छात्रों, शिक्षकों ने डीयू के कैंपस को दोबारा खोलने की मांग उठायी

10/27/2021 9:30:18 AM

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के हालात में सुधार के बीच छात्रों और शिक्षकों ने दिल्ली विश्वविद्यालय के कैंपस को दोबारा खोलने और प्रत्यक्ष कक्षाओं की बहाली की मांग तेज कर दी है।

हालांकि, विश्वविद्यालय प्रशासन सावधानी बरतते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के दिशा-निर्देशों का इंतजार कर रहा है।

छात्रों के लिए दोबारा प्रत्यक्ष कक्षाएं शुरू किए जाने की मांग को लेकर दबाव डालने के मद्देनजर ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन के सदस्य 48 घंटे की भूख हड़ताल पर हैं।

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष अक्षित दहिया ने कहा कि पिछले महीने से अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए प्रयोगशाला कक्षाएं दोबारा शुरू की गई थीं लेकिन छात्रों की उपस्थिति बेहद कम रही।

उन्होंने कहा, '''' ऑनलाइन पढ़ाई से ऑफलाइन कक्षाओं की तरह शिक्षा प्राप्त करने के उद्देश्य को पूरा नहीं किया जा सकता। विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले अधिकतर छात्र दिल्ली से बाहर के हैं और उन्हें लगता है कि केवल प्रयोगशाला कार्य के लिए आना व्यवहारिक नहीं है। हमने इस बारे में कुलपति को कई बार ज्ञापन सौंपा है और कैंपस को दोबारा खोलने की मांग को लेकर बृहस्पतिवार को धरना-प्रदर्शन भी करेंगे।''''
हिंदू कॉलेज में भौतिकी के प्रोफेसर मनीष कंसल ने भी कहा कि दिल्ली से बाहर के छात्रों को नहीं लगता कि सिर्फ प्रयोगशाला कक्षाओं में भाग लेने के लिए उनका शहर में वापस आना व्यवहार्य है।

दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ की कोषाध्यक्ष आभा देव हबीब ने कहा कि जब तक विश्वविद्यालय ऑफलाइन परीक्षा की अनुमति नहीं देता, तब तक छात्र कैंपस में लौटने के बारे में नहीं सोचेंगे।

इस बीच, रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने कहा कि कैंपस तभी खोला जाएगा, जब डीडीएमए 100 फीसदी क्षमता के साथ कक्षाओं की अनुमति प्रदान करेगा।

उन्होंने कहा कि अधिकतर छात्र दिल्ली से बाहर के हैं, ऐसे में 50 फीसदी क्षमता की अनुमति होने पर शिक्षकों के लिए ये फैसला करना मुश्किल होगा कि किन छात्रों को प्रत्यक्ष कक्षा के लिए बुलाया जाए।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News