तृणमूल सदस्य की टिप्पणी पर बिफरे सत्ता पक्ष के सदस्य, की गई माफी की मांग

punjabkesari.in Tuesday, Aug 03, 2021 - 05:09 PM (IST)

नयी दिल्ली, तीन अगस्त (भाषा) राज्यसभा में मंगलवार को सत्ता पक्ष के सदस्यों ने तृणमूल कांग्रेस के एक सदस्य की कथित टिप्पणी को लेकर आपत्ति जताई जिसमें उन्होंने सदन में विधेयक पारित करने के तरीके की तुलना ‘‘पापड़ी चाट’’ बनाए जाने से की थी। सत्ता पक्ष के सदस्यों ने तृणमूल सदस्य से माफी की मांग की।

उच्च सदन में पूर्वाह्न विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए कहा कि विपक्ष के एक सदस्य ने सदन में विधेयक पारित करने के तरीके को लेकर एक टिप्पणी की है जो उन्हें नहीं करना चाहिए था। उन्होंने कहा ‘‘ऐसी टिप्पणी सदन की गरिमा पर आघात है। हमारी मांग है कि वह सदस्य सदन से माफी मांगें।’’
नकवी ने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उनका इशारा तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन की तरफ था। डेरेक ने सोमवार को कथित ताौर पर एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा कि संसद के मानसून सत्र के शुरुआती दस दिन में 12 विधेयक पारित किए गए और हर विधेयक औसतन सात मिनट में पारित किया गया। उन्होंने विधेयक पारित करने के तरीके की तुलना ‘‘पापड़ी चाट’’ बनाए जाने से की।

संसदीय मामलों के मंत्री प्रल्हाद जोशी ने नकवी का समर्थन करते हुए कहा कि हर दिन सदन की कार्यवाही बाधित करना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा ‘‘ सरकार चर्चा के लिए तैयार है लेकिन विधेयक पारित करने को लेकर तृणमूल कांग्रेस के एक सदस्य ने जो कहा है वह सदन का, इस देश के लोगों का अपमान है। उन्हें देश से और सदन से माफी मांगना चाहिए। यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है... हम अभी भी विधेयकों पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं।’’
भारतीय जनता पार्टी के अन्य सदस्यों ने उनका समर्थन किया।
सदन में डेरेक ओ ब्रायन मौजूद थे।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News