संस्कृति, रचनात्मक क्षेत्र विकास को गति दे सकते हैं: लेखी ने जी20 बैठक में कहा

2021-07-31T00:22:42.953

नयी दिल्ली, 30 जुलाई (भाषा) विदेश और संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने शुक्रवार को जी-20 समूह की एक बैठक में कहा कि संस्कृति और रचनात्मक क्षेत्र रोजगार उत्पन्न करके, असमानताओं को कम करके और सतत विकास को बढ़ावा देकर विकास को गति दे सकते हैं।

लेखी ने अपने संबोधन में विकास के प्रेरक के रूप में विषय संस्कृति और रचनात्मक क्षेत्रों पर भारत का दृष्टिकोण प्रस्तुत किया और आर्थिक विकास और रोजगार के साथ-साथ महिलाओं, युवाओं और स्थानीय समुदायों को अधिक अवसर देने की क्षमता प्रदान करने में उनके महत्त्व को रेखांकित किया।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘उन्होंने (लेखी) इस बात पर जोर दिया कि संस्कृति और रचनात्मक क्षेत्र रोजगार उत्पन्न करके, असमानताओं को कम करके, सतत विकास को बढ़ावा देकर और लोगों को अलग पहचान प्रदान करके विकास को गति दे सकते हैं।"
जी20 देशों के संस्कृति मंत्रियों की ऑनलाइन बैठक की मेजबानी इटली ने 2021 में समूह के अध्यक्ष के रूप में की।

मंत्रालय ने कहा कि लेखी ने संस्कृति और रचनात्मक क्षेत्रों के विकास के लिए भारत द्वारा उठाए गए विभिन्न उपायों पर प्रकाश डाला।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News