सीबीआई ने आम्रपाली बायोटेक और उसके निदेशकों के विरुद्ध कथित बैंक धोखाधड़ी में प्राथमिकी दर्ज की

2021-07-30T21:12:32.193

नयी दिल्ली, 30 जुलाई (भाषा) केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 47.97 करोड़ रूपये की कथित धोखाधड़ी को लेकर आम्रपाली बायोटेक और उसके निदेशकों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर एजेसी ने सुनील कुमार, सुधीर कुमार चौधरी, रामविवेक सिंह, सीमा कुमारी, सुनीता कुमार के विरूद्ध भी मामला दर्ज किया। संबंधित बैंक मूल रूप से ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स था जिसका एक अप्रैल, 2020 को पंजाब नेशनल बैंक में विलय हो गया।

सीबीआई प्रवक्ता आर सी जोशी ने यहां कहा, ‘‘ आरोप है कि उक्त निजी कंपनी एवं उसके निदेशकों ने 47.97 करोड़ रूपये के कर्जे के साथ हेराफेरी की थी जबकि यह राशि बिहार के राजगीर (जिला नालंदा) एवं नवांनगर (जिला बक्सर) में जैम, सॉस, अचार, कोर्नफ्लैक्स आदि खाद्य उत्पादों के उत्पादन के वास्ते इकाइयां लगाने के लिए मंजूर कर दी गयी थी। कंपनी एवं उसके निदेशकों की मंशा बैंक को ठगना एवं सरकारी धन को हड़पना थी।’’
प्रवक्ता ने कहा कि बैंक को 35.25 करोड़ एवं उसपर ब्याज राशि का नुकसान हुआ और उसे एक जुलाई, 2016 को गैर निष्पादित संपत्ति घोषित किया किया था।

उन्होंने कहा, ‘ आरोपियों के परिसरों की तलाशी ली गयी जिससे कुछ अभियोजनयोग्य कागजात मिले।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News