सिद्धू की टीम ने अमरिंदर के समक्ष प्रमुख मुद्दे उठाए

2021-07-27T21:00:44.003

चंडीगढ़, 27 जुलाई (भाषा) पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और चार कार्यकारी प्रमुखों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से मुलाकात कर पांच प्रमुख मुद्दों पर कार्रवाई की मांग की, जिस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि वे सभी मुद्दे समाधान के अंतिम चरण में हैं।
सिद्धू और अमरिंदर के बीच लंबी तकरार के बाद, प्रदेश कांग्रेस संगठन में हुए बदलाव के बाद से पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति (पीपीसीसी) की शीर्ष टीम की यह पहली बैठक थी।

बैठक पर एक बयान के साथ मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने दोनों नेताओं के हाथ मिलाते हुए एक तस्वीर भी जारी की।
इससे अलग, सिद्धू की पीपीसीसी ने एक पत्र भी जारी किया, जिसे बैठक में मुख्यमंत्री को सौंपा गया था और उन्हें राज्य में निर्णय लेने वाले नेतृत्व की जरूरत की याद दिलाई।
प्रदेश कांग्रेस इकाई ने 2015 की गुरु ग्रंथ साहिब बेअदबी की घटना और प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी पर शीघ्र कार्रवाई की मांग की। साथ ही, मादक पदार्थ के बड़े तस्करों की गिरफ्तारी, बिजली खरीद समझौता रद्द करने, केंद्र के नये कृषि कानूनों को खारिज करने और सरकारी कर्मचारियों की मांगें पूरी करने की भी मांग की गई।
अमरिंदर के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हालांकि, मुख्यमंत्री ने नव नियुक्त प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व से कहा कि उनके द्वारा उठाये गये सभी प्रमुख मुद्दे उनकी सरकार द्वारा समाधान के अंतिम चरण में हैं, जिन पर पार्टी के साथ करीबी समन्वय कर काम किया गया है। ’’
सिद्धू के साथ कार्यकारी प्रमुख संगत सिंह गिलजियान, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा थे, जब उनहोंने यहां सिविल सचिवालय में मुख्यमंत्री से मुलाकात की।

मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक अमरिंदर ने पीपीसीसी टीम से कहा कि उनकी सरकार ने पार्टी के चुनावी वादों में अधिकांश को पूरा कर दिया है और अन्य लंबित मुद्दों का हल किया जा रहा है।
उन्होंने अपनी बैठक को सौहार्द्रपूर्ण बताते हुए कहा कि उनकी सरकार सभी चुनावी मुद्दों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया कि पार्टी पदाधिकारियों और सरकार को साथ मिल कर काम करना चाहिए और उनसे नियमित रूप से मिलने का आग्रह किया।
अमरिंदर ने कहा, ‘‘आप जीतेंगे तो मेरी जीत होगी और हमारी जीत पार्टी की जीत होगी तथा हमें राज्य और इसके लोगों के हित में साथ मिल कर काम करने की जरूरत है। ’’
बैठक के बारे में ट्वीट कर सिद्धू ने कहा, ‘‘पूरे पंजाब से कांग्रेस के लाखों कार्यकर्ताओं की भावनाएं प्रकट की। ’’
पीपीसीसी के पत्र में कहा गया है, ‘‘निर्णय के बगैर कभी कुछ बड़ा हासिल नहीं किया गया है। हम आपसे फौरन कार्रवाई करने का अनुरोध करते हैं। ’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News