दिल्ली में भारी बारिश, कई जगह जलजमाव से यातायात प्रभावित

2021-07-27T12:36:01.08

नयी दिल्ली, 27 जुलाई (भाषा) राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार सुबह भारी बारिश के कारण शहर के कई हिस्सों में जलजमाव हो गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, सफदरजंग वेधशाला में पिछले 24 घंटे में 100 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

धौला कुआं, मथुरा रोड, मोती बाग, विकास मार्ग, रिंग रोड, रोहतक रोड, संगम विहार, किराड़ी और प्रगति मैदान के पास तथा कई अन्य स्थानों पर जलभराव के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

बारिश के कारण सड़कों पर पानी भरने से यातायात भी प्रभावित रहा। आईटीओ, मोती बाग मेट्रो स्टेशन के नीचे, धौला कुआं अंडरपास, प्रगति मैदान के पास, मथुरा रोड, विकास मार्ग, आईपी फ्लाईओवर के पास रिंग रोड, रोहतक रोड सहित कई स्थानों पर यातायात काफी धीमा रहा।

लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारी ने बताया कि जलभराव की शिकायतों से प्राथमिकता से निपटा जा रहा है।

पीडब्ल्यूडी के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ सुबह बारिश तेज थी, इसलिए शहर के कुछ इलाकों में पानी भर गया। हमारे अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और हम स्थिति पर करीब से नजर रख रहे हैं।’’
दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्वीट कर लोगों को जलजमाव और उन इलाकों की जानकारी दी जहां इसके कारण यातायात प्रभावित हुआ है।

यातायात पुलिस ने कहा, ‘‘ जलजमाव के कारण कुतुब मीनार मेट्रो स्टेशन 100 फुटा कैरिजवे की ओर यातायात प्रभावित है। बदरपुर से महरौली की ओर आने वाले यातायात को प्रह्लादपुर पुल के पास जलजमाव के कारण मथुरा रोड की ओर मोड़ दिया गया है।’’
यातायात पुलिस ने बताया कि ओखला मंडी के पास, तमिल संगम मार्ग से आरके पुरम की ओर और हयात रीजेंसी से सीएनजी पंप के पास आरके पुरम सेक्टर-12 तक यातायात प्रभावित है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि धौला कुआं के पास भी यातायात प्रभावित है।

बारिश के बाद दिल्ली में मौसम सुहाना हो गया। आईएमडी के अनुसार, सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह साढ़े आठ बजे हवा में आर्द्रता का स्तर 100 प्रतिशत रहा।

मौसम वैज्ञानिक ने सामान्य रूप से बादल छाए रहने के साथ ही मध्यम बारिश होने और शाम तक 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने, गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान व्यक्त किया है। वहीं, अधिकतम तापमान के 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून अपने आगमन की सामान्य तिथि से 16 दिन की देरी से, 13 जुलाई को राष्ट्रीय राजधानी पहुंचा। आम तौर पर मानसून 27 जून तक दिल्ली पहुंच जाता है। आठ जुलाई तक मानसून पूरे देश में छा जाता है। पिछले साल दिल्ली में मानसून 25 जून को पहुंचा था और 29 जून तक देशभर में छा गया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News