डीआरडीओ ने जमीन से हवा में मार करने वाली आकाश मिसाइल के नये संस्करण का सफल परीक्षण किया

2021-07-22T10:57:26.783

नयी दिल्ली, 21 जुलाई (भाषा) रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने ओडिशा के समेकित परीक्षण रेंज से जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली आकाश के नये संस्करण का बुधवार को सफल परीक्षण किया है।

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि सभी प्रकार की हथियार प्रणाली से लैस मिसाइल का परीक्षण दोपहर करीब पौने एक (12:45) बजे जमीन आधारित मंच से किया गया और परीक्षण के दौरान मिसाइल की उड़ान से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर सभी हथियार प्रणाली के सफल, बिना किसी गड़बड़ी के काम करने की पुष्टि हुई है।

आकाश मिसाइल का नया संस्करण 60 किलोमीटर की दूरी तक की मारक क्षमता रखता है और यह मैक 2.5 की गति से उड़ान भरने में सक्षम है।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘डीआरडीओ ने ओडिशा तट पर स्थित समेकित परीक्षण केन्द्र से आकाश मिसाइल के नये संस्करण का 21 जुलाई को सफल परीक्षण किया।’’
उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘सफल परीक्षण दोपहर करीब पौने एक बजे (12:45) जमीन पर स्थित मंच से किया गया, इस दौरान मिसाइल बहुद्देशीय राडार, कमांड, कंट्रोल और संचार प्रणाली और लांचर आदि हथियार प्रणाली से जुड़े सभी तत्वों से लैस था।’’
आकाश मिसाइल को डीआरडीओ के हैदराबाद स्थित प्रयोगशाला ने अनुसंधान संगठन की अन्य शाखाओं के साथ मिलकर विकसित किया है।

मिसाइल की उड़ान से जुड़े आंकड़े रिकॉर्ड रखने के लिए आईटीआर ने कई निगरानी प्रणाली, जैसे एलेक्ट्रो-ऑप्टिकल ट्रैकिंग प्रणाली, राडार और टेलीमेट्री का उपयोग किया।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘प्रणालियों द्वारा एकत्र आंकड़ों/डेटा के आधार पर पूरी हथियार प्रणाली में कोई गड़बड़ी नहीं होने की पुष्टि हुई है।’’
बयान में कहा गया है, ‘‘तैनात किए जाने पर आकाश-एनजी हथियार प्रणाली भारतीय वायुसेना की हवाई रक्षा क्षमता को कई गुना बढ़ाने वाला साबित होगा।’’
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ, भारतीय वायुसेना और विनिर्माण एजेंसियों भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (बीडीएल) को मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए बधाई दी।

डीआरडीओ के अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी ने मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए उसमें शामिल टीम के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह मिसाइल भारतीय वायुसेना को मजबूती प्रदान करेगा।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News