दिल्ली में बारिश के बाद कई स्थानों पर जलभराव, यातायात बाधित, एक व्यक्ति की डूबने से मौत

2021-07-20T00:10:03.9

नयी दिल्ली, 19 जुलाई (भाषा) दिल्ली में सोमवार सुबह बारिश होने से आईटीओ,रिंग रोड, मथुरा रोड सहित कई मार्गों पर जलभराव हो गया जिसकी वजह से यातायात प्रभावित हुआ। वहीं, पुल प्रहलादपुर में जलमग्न रेल अंडरपास में सेल्फी लेते वक्त एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों ने उन्हें सूचित किया कि व्यक्ति जलमग्न रेलवे अंडरपास का वीडियो बनाने और सेल्फी लेने गया था। मृतक की शिनाख्त रवि चौटाला (27) के तौर पर की गई है।
यातायात पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अंडरपास में जलभराव के कारण दक्षिण-पूर्वी दिल्ली में पुल प्रहलादपुर खंड पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई।

दिल्ली की यातायात पुलिस की ओर से ट्वीट किया गया, ‘‘पुल प्रहलादपुर में रेलवे के पुल के नीचे पानी भरने की जानकारी मिली। महरौली-बदरपुर रोड से यातायात को मथुरा रोड की तरफ मोड़ा गया।’’
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में ‘‘विश्व स्तरीय जल निकासी व्यवस्था’’ विकसित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि मिंटो रोड जैसी जल निकासी व्यवस्था समूची दिल्ली में लागू की जाएगी और नालियों और सीवरों को नियमित रूप से साफ किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी), नगर निकायों, दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) और सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण (आई एंड एफसी) के अधिकारियों के साथ शहर की जल निकासी व्यवस्था पर समीक्षा बैठक में भाग लेने के बाद यह घोषणा की। बैठक की अध्यक्षता उपराज्यपाल अनिल बैजल ने की।

कुछ प्रमुख सड़कों पर जहां जलभराव देखा गया, उनमें आईटीओ, बाहरी दिल्ली में नरेला-लामपुर अंडरपास, रिंग रोड, प्रगति मैदान के पास के इलाके, पालम, किरारी, रोहतक रोड, धौला कुआं, किशनगंज रेल अंडर ब्रिज, कापसहेड़ा अंडरपास, आजादपुर , कंझावाला-जौंटी रोड, विकास मार्ग, गीता कॉलोनी और रामदेव चौक नरेला आदि शामिल हैं।

नगर निगम के आंकड़ों के मुताबिक एसडीएमसी क्षेत्र में लाजपत नगर-2, दरियागंज, आरके पुरम, हौज खास, साकेत, जनकपुरी, तिलक नगर आदि सहित करीब 37 स्थानों पर जलभराव देखा गया।

एसडीएमसी के अधिकारक्षेत्र में आने वाले इलाकों में पेड़ उखड़ने की 19 घटनाएं और दीवार गिरने की छह घटनाएं हुईं। उत्तर एमसीडी के आंकड़ों के मुताबिक सोमवार दोपहर तक जलभराव की केवल सात शिकायतें दर्ज की गईं।

सिर्फ सड़कें ही नहीं बल्कि कॉलोनियों और बाजारों समेत कई निचले इलाकों में भी सोमवार को पानी भर गया। इनमें नजफगढ़ मुख्य बाजार, नरेला डीएसआईआईडीसी बाजार, मुंडका औद्योगिक क्षेत्र, द्वारका, सदर बाजार के कुछ हिस्से, कमला नगर बाजार, संगम विहार और सोम विहार शामिल हैं। लोगों ने सड़कों, बाजारों और कॉलोनियों में पानी भरे होने वाले वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किए।
जलभराव के कारण मिलेनियम पार्क के निकट रिंग रोड पर, सराय काले खां, किलोकरी, धौला कुआं, विकास मार्ग, आजादपुर आदि स्थानों पर भी यातायात संबंधी परेशानियां उत्पन्न हो गईं। इससे काम पर निकले लोगों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा।
दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्विटर पर जलभराव वाले स्थानों और मार्ग परिवर्तन के बारे में अद्यतन पोस्ट किए।
यातायात पुलिस ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘लामपुर अंडरपास में जलभराव की सूचना मिली है। कृपया लामपुर अंडरपास से बचें और नरेला बवाना फ्लाईओवर से वैकल्पिक मार्ग लें।’’ दिल्ली यातायात पुलिस के आधिकारिक हैंडल से एक अन्य ट्वीट में कहा गया, ‘‘नरेला के रामदेव चौक पर जलभराव की सूचना मिली है। कृपया रामदेव चौक से बचें।’’
लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों ने कहा कि जलभराव की शिकायतें दूर करने को प्राथमिकता दी जा रही है। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘वरिष्ठ इंजीनियरों के साथ हमारे कर्मचारी काम में लगे हुए हैं। सड़कों से पानी हटाया जा रहा है।’’
शहर में पिछले 24घंटे में 70 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।
भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में अगले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर तेज से मध्यम बारिश होने की संभावना है।
आईएमडी ने कहा, ‘‘अगले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर मध्यम बारिश की संभावना है।’’
दिल्ली के लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने अपने अभियंता कर्मचारियों की 30 सितंबर तक की छुट्टियां रद्द कर दी हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि मानसून के मौसम में शहर में जलभराव न हो। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।
विभाग ने अधिकारियों से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं या ‘‘अभूतपूर्व स्थिति’’ को छोड़कर, पहले से ही छुट्टी पर चल रहे कर्मचारियों को वापस बुलाने और स्वीकृत छुट्टियों को रद्द करने के लिए कहा है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News