अयोध्या जमीन सौदे में आप नेता मनीष सिसोदिया ने घोटाले का आरोप लगाया

2021-06-14T18:20:46.997

नयी दिल्ली, 14 जून (भाषा) दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने सोमवार को राममंदिर न्यास से अयोध्या में प्रस्तावित धर्मस्थल के लिए उसके द्वारा कथित ऊंचे दाम पर की गयी भूखंड की खरीद के सिलसिले में स्पष्टीकरण मांगा ।

इसे ‘घोटाला’ करार देते हुए आप नेता ने कहा कि मंदिर का निर्माण लोगों के चंदे से किया जा रहा है, ऐसे में उनकी मेहनत की कमाई के पैसे का दुरूपयोग नहीं किया जाना चाहिए।
एक दिन पहले आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने आरोप लगाया था कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्यास के महासचिव चंपत राय ने संस्था के सदस्य अनिल मिश्रा की मदद से दो करोड़ रुपए की 1.208 हेक्टेयर जमीन 18 करोड़ रुपए में खरीदी।

उन्होंने और समाजवादी पार्टी के नेता पवन पांडे ने इसे धन शोधन करार दिया और इसकी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से जांच कराने की मांग की।

सिसोदिया ने यहां सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में न्यास से लोगों की भावना के साथ खिलवाड़ नहीं करने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘राम जन्मभूमि न्यास ने 18.5 करोड़ रूपये में एक भूखंड खरीदा । न्यास द्वारा खरीदे जाने से महज पांच मिनट पहले उसे दो करोड़ रूपये में बेचा गया था । राममंदिर निर्माण के के लिए इस जमीन की खरीद में घोटाला हुआ। रामजन्मभूमि न्यास को जरूर स्पष्ट करना चाहिए कि इतने ऊंचे दाम पर जमीन क्यों खरीदी गयी।’’
उन्होंने कहा, ‘‘ मंदिर का निर्माण लोगों द्वारा दिये गये चंदे से किया जा रहा है और उससे उनकी भावनाएं जुड़ी हैं। उससे (राममंदिर न्यास से) मेरा बस एक अनुरोध है कि वह उन लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं करे जिन्होंने अपनी मेहनत की कमाई का पैसा चंदे में दिया। ’’
संवाददाता सम्मेलन में सिसोदिया के साथ मौजूद सिंह ने दावा किया कि न्यास के न्यासी अनिल मिश्रा और अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय जमीन के इस सौदे को अंतिम रूप दिये जाने के वक्त मौजूद थे।
राय ने आरोपों का खंडन किया है। रविवार को एक बयान में राय ने कहा , ‘‘ हम पर तो महात्मा गांधी की हत्या करने का आरोप भी लगाया गया था। हम आरोपों से नहीं घबराते। मैं इन आरोपों का अध्ययन और उनकी जांच करूंगा।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News