विद्यार्थियों को विदेश भाषाएं पढ़ाने पर विचार करे शिक्षा विभाग : अमरिंदर सिंह

2021-06-10T17:48:18.93

चंडीगढ़, 10 जून (भाषा) पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बृहस्पतिवार को राज्य के शिक्षा विभाग से कहा कि वह विद्यार्थियों को विदेशी भाषाएं पढ़ाने और वैश्विक स्तर पर उनकी रोजगार पाने की क्षमता बढ़ाने के तरीकों पर विचार करें।
उन्होंने विदेशी भाषा सीखने के इच्छुक विद्यार्थियों को सरकारी स्कूलों में वैकल्पिक विषय के तौर पर अवसर देने की जरूरत पर जोर देते हुए स्कूली शिक्षा विभाग से कहा कि वह विद्यार्थियों को चीनी, अरबी और फ्रांसीसी जैसी भाषाओं की शिक्षा देने के तरीकों पर विचार करे।
यहां जारी एक आधिकारिक बयान में मुख्यमंत्री को उद्धृत करते हुए कहा गया कि ये भाषाएं उन्हें (विद्यार्थियों को) पूरी दुनिया में रोजगार दिलाने के अवसर बढ़ाने में सहायक हो सकती हैं।
राज्य के स्कूली शिक्षकों से संवाद में सिंह ने कहा, ‘‘पंजाबी हमारी मातृभाषा है और अंग्रेजी पहले ही स्कूलों में सिखाई जा रही है। ऐसे में विदेशी भाषा का अतिरिक्त ज्ञान हमारे विद्यार्थियों को अपना करियर बनाने में और मदद करेगा।’’
लोगों के कुछ नया करने के जज्बे को लेकर अपने अनुभवों को साझा करते हुए सिंह ने कहा कि बहुत पहले जब वह कपूरथला जिले का दौरा कर रहे थे तब उन्होंने एक साइनबोर्ड देखा जिसमें इतलावी भाषा पढ़ाने के स्थान की जानकारी दी गई थी।
उन्होंने कहा, ‘‘यह घटना बताती है कि हमारे लोग, खासतौर पर युवा विदेश में रहने के लिए विदेशी भाषा सीखने के इच्छुक हैं और शिक्षा विभाग की ऐसी पहल उन्हें अपनी महत्वकांक्षाओं को मूर्त रूप देने में मदद करेगी। ’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News