फेडरल बैंक का एकल शुद्ध मुनाफा मार्च तिमाही में 59 प्रतिशत बढ़कर 478 करोड़ रुपये

5/17/2021 4:12:01 PM

नयी दिल्ली, 17 मई (भाषा) निजी क्षेत्र के बैंक, फेडरल बैंक ने सोमवार को बताया कि मार्च में समाप्त तिमाही के दौरान उसका एकल शुद्ध मुनाफा लगभग 59 प्रतिशत वृद्धि के साथ 478 करोड़ रुपये हो गया।
बैंक ने वित्तवर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में 301 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हासिल किया था।
बैंक का इससे पिछली दिसंबर 2020 तिमाही में 404 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हासिल किया था उसके मुकाबले भी यह मुनाफा पर्याप्त रूप से अधिक है।
फेडरल बैंक ने एक नियामकीय सूचना में कहा, हालांकि, एकल आधार पर वित्तवर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में आय 3,832 करोड़ रुपये पर कम रही, जबकि वित्त वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में यह आय 4,108 करोड़ रुपये थी।
एकीकृत आधार पर, समीक्षाधीन तिमाही में शुद्ध मुनाफा 65 प्रतिशत बढ़कर 500 करोड़ रुपये हो गया। हालाँकि, बैंक की आय 5.4 प्रतिशत घटकर 3,996 करोड़ रुपये रह गई, जो एक साल पहले की इसी तिमाही में 4,223 करोड़ रुपये थी।
मूल्य के संदर्भ में, सकल एनपीए या फंसा ऋण बढ़कर 4,602 करोड़ रुपये हो गया, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 3,531 करोड़ रुपये था।
हालांकि, शुद्ध एनपीए सुधरकर 1.19 प्रतिशत (1,569करोड़ रुपये) रह गया जो पहले 1.31 प्रतिशत (1,607 करोड़ रुपये) था।

वित्त वर्ष 2020- 21 की यदि बात की जाये तो बैंक का एकल शुद्ध लाभ तीन प्रतिशत बढ़कर 1,590 करोड़ रुपये हो गया। वर्ष के दौरान कुल आय भी इससे पिछले साल की 15,142 करोड़ रुपये से बढ़कर 15,703 करोड़ रुपये हो गई।
बैंक ने कहा है कि उसके निदेशक मंडल ने वित्त वर्ष 2020- 21 के लिये शेयरधारकों को प्रति शेयर 0.70 रुपये प्रति शेयर (35 प्रतिशत) का अंतिम लाभांश देने की सिफारिश की है।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static