उत्तर प्रदेश से किसान पंजाब के अपने समकक्षों के प्रति समर्थन व्यक्त करने के लिए पहुंचे दिल्ली बार्डर

2020-11-28T18:40:26.277

नयी दिल्ली, 28 नवंबर (भाषा) उत्तर प्रदेश के कुछ किसान संगठन केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब के अपने समकक्षों के आंदोलन के प्रति समर्थन व्यक्त करते हुए शनिवार की दोपहर अपने वाहनों को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर जमा हो गये।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि करीब 200 किसान पंजाब के किसान संगठनों के ‘दिल्ली चलो’ आह्वान पर यूपी गेट (गाजीपुर बॉर्डर) पहुंच गये और पुलिस अधिकारी उनसे बात कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारी किसानों ने जनता को असुविधा से बचाने के लिए निर्धारित की गयी जगह पर अपने वाहन खड़ा किये और सुनिश्चित किया कि यातायात सुचारू रहे।

पुलिस उपायुक्त (पूर्व) जसमीत सिंह ने कहा, ‘‘किसान मांग कर रहे हैं कि वे दिल्ली की ओर बढ़ना चाहते हैं लेकिन हम उनसे बात कर रहे हैं। फिलहाल करीब 200 किसान हैं। वे यूपी गेट पर बैठे हैं। ’’
भारी पुलिस मौजूदगी के बीच पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान सिंघू और टिकरी बॉर्डर पर तीसरे दिन शनिवार को भी टिके हैं जबकि उन्हें शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए उत्तरी दिल्ली के एक मैदान की पेशकश की गयी है।

सिंघू बॉर्डर पर किसानों की संख्या बढ़ती जा रही है क्योंकि उनके साथ और प्रदर्शनकारी जुड़ रहे हैं तथा उन्होंने निरंकारी संत निरंकारी ग्राउंड की ओर जाने से मना कर दिया है।

सिंघू बॉर्डर पर एक बैठक के बाद एक किसान नेता ने कहा, ‘‘हम यहां से नहीं जायेंगे और अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। हम घर नहीं लौटेंगे। पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान इस प्रदर्शन से जुड़ने के लिए आये हैं।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Recommended News