स्टार्ट-अप’ - ‘फसल’ ने किसानों के लिए इंटरनेट-संचालित, सेंसर आधारित पाौद्योगिकी की पेशकश की

2020-11-23T23:15:32.993

नयी दिल्ली, 23 नवंबर (भाषा) प्रिसिजन फार्मिंग स्टार्टअप फसल ने सोमवार को एक ऐसी अभिनव प्रौद्योगिकी के पेशकश करने की घोषणा की, जो किसानों को खेती की लागत कम करने और फसल की पैदावार में सुधार करने में मदद करेगी।
''फसल क्रांति'' नामक नया उत्पाद एक आईओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) और सेंसर आधारित प्रणाली है जो किसानों को सिंचाई, प्रजनन, बीमारी और कीट प्रबंधन के संबंध में अनुकूलित आंकड़ों पर आधारित निर्णय लेने में मदद करता है।
कंपनी ने एक बयान में कहा कि नई तकनीक 12 से अधिक सेंसर से लैस है, जो बारिश, हवा की गति, हवा की दिशा और सौर तीव्रता जैसे वृहद-जलवायु कारकों पर नजर रखने के लिए हैं।
यह सूक्ष्म जलवायु कारकों जैसे तापमान, आर्द्रता, पत्ती के गीलेपन के साथ-साथ मिट्टी के तापमान, मिट्टी के विभिन्न स्तरों पर आद्रता की स्थिति जैसे पहलुओं की निगरानी रख सकती है।
‘फसल’ संस्था के संस्थापक आनंद वर्मा और शैलेन्द्र तिवारी हैं। उनका मानना ​​है कि फ़सल क्रान्ति की पेशकश से भारतीय बागवानी और हमारे खेतों को सटीक, ज्ञान आधारित और कुशल रूप से संचालित करने में मदद मिलेगी।
फसल ने अक्टूबर 2019 में ओमनिवोर और वेवमेकर पार्टनर्स के अगुवाई में निवेशकों से 16 लाख डॉलर का प्रारंभिक वित्त पोषण प्राप्त किया था।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Recommended News