See More

भारत, यूएई अपनी एयरलाइनों को 12 से 26 जुलाई तक उड़ानों में दोनों ओर से यात्रियों को ले जाने देंगे

2020-07-09T19:35:22.557

नयी दिल्ली, नौ जुलाई (भाषा) नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने दोनों देशों के बीच 12 जुलाई से 26 जुलाई तक संचालित होने वाली उनकी चार्टर उड़ानों को दोनों ओर से पात्र यात्रियों को ले जाने की अनुमति देने पर सहमति जतायी है।
वर्तमान में यूएई से भारतीय नागरिकों की स्वदेश वापसी के लिए उड़ान संचालित करने वाली भारतीय एयरलाइन को यहां से किसी भी यात्री को खाड़ी देश ले जाने की अनुमति नहीं होती है। इसी तरह से यूएई की कोई एयरलाइन यहां से चार्टर उड़ान संचालित करने के लिए आने के दौरान कोई यात्री नहीं ला सकती।

कई भारतीय नागरिक जिनके पास यूएई का वैध निवास परमिट है और वे वर्तमान में भारत में हैं, वे दोनों देशों के बीच उड़ानों की कमी के बारे में पिछले कुछ सप्ताह से सोशल मीडिया पर शिकायत कर रहे थे। भारत ने गत 23 मार्च को कोरोना वायरस महामारी के चलते सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी थी।

एअर इंडिया एक्सप्रेस के सीईओ के श्याम सुंदर ने ट्वीट किया, ‘‘यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि एअर इंडिया एक्सप्रेस ने 12 जुलाई से 26 जुलाई के बीच भारत से यूएई के लिए उड़ानों के टिकट यूएई रेजीडेंट परमिट वाले भारतीयों के लिए बुकिंग के वास्ते खोल दिये हैं।’’
सुंदर का यह ट्वीट नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा ट्विटर पर यह घोषणा किये जाने के बाद आया कि, ‘‘भारत और यूएई की सरकारों के बीच नजदीकी रणनीतिक साझेदारी के तहत तथा यूएई निवासी उन नागरिकों की यूएई वापसी में सहायता के लिए जो वर्तमान में भारत में हैं, दोनों देशों के नागरिक उड्डयन प्राधिकारियों ने वर्तमान व्यवस्था 12 जुलाई 2020 से शुरू करने पर सहमति जतायी है।’’
मंत्रालय ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात के विमानों द्वारा संचालित चार्टर उड़ानों को अब भारतीय नागरिकों को संयुक्त अरब अमीरात से भारत लाने और ''आईसीए-अनुमोदित यूएई निवासियों'' को ले जाने की अनुमति होगी।

आईसीए का तात्पर्य यूएई फेडरल अथॉरिटी फॉर आइडेंटिटी एंड सिटिजनशिप से है। संयुक्त अरब अमीरात के वैध निवास परमिट वाले यात्री को उस देश में प्रवेश करने के वास्ते कोई उड़ान लेने से पहले आईसीए की मंजूरी लेनी होगी।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा, ‘‘यूएई से भारतीय नागरिकों को भारत वापसी के लिए उड़ानों का संचालन करने वाले भारतीय विमानों को, आईसीए-अनुमोदित यूएई निवासियों (भारत से यूएई वापस लौटने वाले) को भारत से यूएई ले जाने की अनुमति होगी।’’
नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा कि भारत से यूएई की यात्रा पर, ये सभी उड़ानें केवल उन्हीं यात्रियों को ले जाएंगी जो खाड़ी देश के हैं।

उसने कहा कि यह व्यवस्था शुरू में 15 दिनों की अवधि के लिए होगी यानि 12 जुलाई से 26 जुलाई तक, और उसके बाद इसकी समीक्षा की जाएगी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News