एक ऐसी दुनिया जो कभी न देखी और न सुनी

punjabkesari.in Friday, Mar 04, 2022 - 01:17 PM (IST)

कमाल की इनोवेशन, काबिल-ए-तारीफ इमैजिनेशन और एक अलग तरह की एजुकेशन, जो हर उम्र के इंसान के लिए दुनिया के सबसे बड़े 360 डिग्री प्रोजैक्शन डोम (अल वस्ल प्लाजा) की बात हो, म्यूजिकल वॉटर फीचर की बात हो या फिर आसमान में घूमते गार्डन की..., सब कुछ यहां पर है। 192 मुल्क अपना कल्चर, हैरीटेज, टैक्नोलॉजी और क्रिएटिव आइडियाज लेकर' एक्सपो 2020 दुबई यू.ए.ई.' में पहुंचे हैं। यहां बात हो रही है ऑपरच्यूनिटीज की, मोबिलिटी और सस्टेनेबिलिटी की। सीखने सिखाने को तो बहुत कुछ है, एंटरटेनमैंट की भी कोई कमी नहीं है।

दुनिया भर से आर्टिस्ट परफॉर्मेंस के लिए यहां पहुंच रहे हैं। 200 के करीब फूड एंड बैवरेज आऊटलेट्स विजिटर्स को सर्व कर रहे हैं और तो और दुनियाभर के जायके आप यहां चख सकते हैं। एक्सपो में चलते-फिरते आपको रोबोट्स नजर आ जाएंगे, जो कि फूड डिलिवर कर रहे हैं। एक्सपो में घूम रहे सिक्योरिटी इंचार्ज कुछ रोबोट्स भी हैं। अगर आप रास्ता भूल जाएं तो आपको रास्ते पर लाने के लिए भी रोबोट्स हैं, जो कि प्रिंटेड मैप्स बांटते फिर रहे हैं। एक्सपो 2020 दुबई एक ऐसी दुनिया है जो आपने न कभी देखी और न सुनी होगी। हमारी कोशिश आपको इस दुनिया को करीब से दिखाने की है। एक नजर...

चर्चा में क्यों...

एक्सपो 2020 मिडल ईस्ट, अफ्रीका एंड साऊथ एशिया (MEASA) में होने वाला पहला वर्ल्ड एक्सपो है। इतना ही नहीं पहली बार कोई अरब नेशन वर्ल्ड एक्सपो को होस्ट कर रहा है। चर्चा में इसलिए है क्योंकि 1 अक्तूबर 2021 को शुरू हुआ यह एक्सपो 31 मार्च 2022 को समाप्त होने जा रहा है। एक्सपो का अंतिम महीना है इसलिए दुनियाभर से लोग दुबई में जुट रहे हैं। हर उम्र के लोगों के लिए, फिर चाहे वे बच्चे हैं या फिर बूढ़े, कुछ न कुछ एक्सपो में जरूर रखा है। सबसे खास बात यह है कि यहां सीखने को बहुत कुछ है।

क्यों खास है....?.

खास इसलिए क्योंकि इस एक्सपो को एक थीम दिया गया,'Conneting Minds, Creating the future'. इस थीम को तीन सब थीम्स में डिवाइड किया गया है और वो हैं..., 'Opportunity, Mobility and Sustainability हर थीम के हिसाब से हर कंट्री ने खुद को पेश किया है। यू.ए.ई. गवर्नमैंट ने 'ऑपरच्यूनिटी, मोबिलिटी और सस्टेनेबिलिटी के कई कमाल के उदाहरण पेश किए हैं। दुनिया भर के लोग अपने-अपने क्रिएटिव आइडियाज लेकर यहां पहुंचे हैं, ऐसे आइडियाज जो आने वाले कल को बेहतर बनाएंगे। पूरी दुनियां आने वाले वर्षों में कैसे काम करने वाली है, क्या टैक्नोलॉजी होगी, रहने के लिए कैसे घर होंगे, कौन से इको फ्रैंडली साधन होंगे जिन्हें अपनाया जा सकेगा और कैसे हम सस्टेनेबिलिटी पर काम कर सकेंगे सब कुछ यहां पर बताया गया है।

 जिनकी बात हो रही है 
 एक्सपो 2020 दुबई में 192 देशों के पवेलियन के अलावा, स्पैशल पवेलियन भी बनाए गए हैं। पंजाब केसरी हर उस स्पैशल पवेलियन तक पहुंचा जिसे एक्सपो में एक अलग जगह दी गई है। हर पवेलियन एक अलग ही कहानी बयां करता है। ऐसी कहानियां जो काबिल-ए तारीफ हैं।

 वुमन्स पवेलियन
एक ऐसा पवेलियन जहां दुनियाभर की महिलाओं की गाथा है। इसमें समानता की बात की गई है। यू.ए.ई. में महिलाओं को कैसे एक समान अधिकार मिले हैं और यू.ए.ई. की पार्लियामेंट में 50 प्रतिशत महिलाएं हैं, यह भी बताया गया है। इसके अलावा इस एक्सपो में 'ऑपरच्यूनिटी' प्वेलियन, 'सरटेनेबिलिटी' पवेलियन, 'मोबिलिटी' पवेलियन, 'गोथम सिटी' पवेलियन (बैटमैन पर आधारित), 'विजन' पवेलियन, 'फिरदोज स्टूडियो बाय ए. आर. रहमान और 'द गुड प्लेस' पवेलियन खास हैं, जिनके बारे में आप आगे पढ़ेंगे।


एक्सपो साइट बनेगी 'डिस्ट्रिक्ट2022'

दुनिया की पहली फ्यूचर सिटी

यू.ए.ई. गवर्नमैंट एक्सपो को होस्ट करने के साथ साथ दुनिया के सामने एक उदाहरण भी पेश करना चाहती थी, जिसमें वह कामयाब भी रही है। दरअसल, 4.38 स्कवेयर किलोमीटर एरिया में फैली एक्सपो साइट, एक्सपो के खत्म होते ही 'डिस्ट्रिक्ट 2020' में बदल जाएगी। यह एक फ्यूचर सिटी होगी। दुनिया का पहला ऐसा शहर जहां पर सब कुछ 15 मिनट के दायरे में होगा। इसलिए इसे '15 मिनट सिटी' भी कहा जा रहा है। यानी कि आपको ऑफिस, शॉपिंग मॉल, गार्डन, घर जहां भी आप जाना चाहेंगे आपको 15 मिनट ही जिसमें कारों को चलने की अनुमति नहीं होगी। इसमें साइकिल्स और इलैक्ट्रिक व्हीकल्स ही चलेंगे। ऑटोनोमन्स यानी कि ड्राइवर लैस व्हीकल्स भी इस सिटी के अंदर चलेंगे।

PunjabKesari

एक्सपो 2020 दुबई के चीफ डिवैल्पमैंट एंड डिलिवरी ऑफिसर अहमद अल खातिब ने पंजाब केसरी ग्रुप से विशेष तौर पर बात करते हुए बताया कि, 'जब हम एक्सपो साइट को बना रहे थे तो हमारा फोकस सस्टेनेबिलिटी पर था। हमने बहुत कुछ ऐसा इस्तेमाल किया जो कि रिसाइकिल्ड था और बहुत कुछ ऐसा भी जिसे एक्सपो खत्म होने के बाद फिर से इस्तेमाल किया जा सकेगा। हमने पूरे यू.ए.ई. से टायर्स जुटाए और + एक्सपो साइट में जितना भी सड़क निर्माण हुआ, उसमें रबड़युक्त डामर का इस्तेमाल किया। ठीक ऐसे ही जितना भी कंक्रीट इस्तेमाल किया गया, उसमें कुछ ऐसे कैमिकल्स डाले गए जिससे नॉर्मल कंक्रीट के मुकाबले 30 प्रतिशत पानी कम इस्तेमाल हुआ।'' डिस्ट्रिक्ट 2020' को लेकर किए गए सवाल पर अहमद अल खातिब आगे बोले, 'हमने कभी यह सोच कर एक्सपो साइट तैयार नहीं की कि हमें सिर्फ निर्माण कार्य करना है, बल्कि हमने हमेशा यह ध्यान में रखा कि हमें यहां रहने वाले लोगों की जरूरतों, स्वास्थ्य और सहूलियतों का खास ध्यान रखना है। यहां क्वालिटी लाइफ होगी, इको फ्रैंडली एन्वायरनमैंट होगा। यू कह लें कि यह एक ह्यूमन सैट्रिक, सस्टेनेबल सिटी होगी।'


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anu Malhotra

Related News

Recommended News