नव-निर्मित केंद्रीय जेल गोइन्दवाल साहिब दिसंबर माह में होगी कार्यशील : रंधावा

punjabkesari.in Tuesday, Nov 30, 2021 - 11:16 AM (IST)

चंडीगढ़, (रमनजीत सिंह) गोइन्दवाल साहिब में निर्माणधीन नई केंद्रीय जेल के निर्माण का काम लगभग मुकम्मल हो गया है जो कि दिसंबर के पहले पखवाड़े में जेल विभाग को सौंप दी जाएगी। दिसंबर महीने में यह जेल कार्यशील हो जाएगी। यह बात उप मुख्यमंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने आज यहां जेल विभाग से संबंधित मामलों की समीक्षा संबंधी बुलायी उच्च स्तरीय मीटिंग की अध्यक्षता करने के उपरांत कही।  रंधावा ने कहा कि राज्य की जेलों की क्षमता को तर्कसंगत करने के लिए गोइन्दवाल साहिब में 185 करोड़ रुपए की लागत से 2,780 कैदियों के क्षमता वाली केंद्रीय जेल का निर्माण किया गया है। इसके साथ राज्य में केंद्रीय जेलों की संख्या 10 और कुल जेलों की संख्या 26 हो जायेगी। 

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि मोहाली और फतेहगढ़ साहिब जिलों के कैदियों को रोपड़ व पटियाला भेजने से बचने के लिए मोहाली जिले में ही नई जेल बनाने पर विचार किया जा रहा है। इस काम के लिए अपेक्षित ज़मीन की शिनाख़्त करने का काम ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग को सौंपा गया है। 

रंधावा ने बताया कि जेल विभाग के परिसरों पर तेल कंपनियों के आऊटलैट स्थापित करने संबंधी मंज़ूरियों के काम में तेज़ी लाने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसी तरह फरीदकोट जेल में केवल कैदियों के लिए अस्पताल स्थापित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग को अपेक्षित स्टाफ तैनात करने के लिए कहा गया जिससे कैदियों को इलाज के लिए दूर-दराज़ नहीं ले जाना पड़ेगा।

मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी ने लोक निर्माण, पी.एस.पी.सी.एल., भू संरक्षण, राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मंज़ूरियों का काम तय समय के अंदर मुकम्मल किया जाए और लोक निर्माण विभाग निश्चित समय तक जेल विभाग को केंद्रीय जेल सौंपना यकीनी बनाऐ।

मीटिंग में प्रमुख सचिव जेल डी. के. तिवारी, प्रमुख सचिव गृह अनुराग वर्मा, प्रमुख सचिव आम राज प्रबंध विकास प्रताप सिंह, सचिव ग्रामीण विकास एवं पंचायत राहुल भंडारी, पुड्डा के सी.ए. विनय बुबलानी, ए.डी.जी.पी. जेल परवीन कुमार सिन्हा, उप मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव वरुण रूज़म, डायरैक्टर स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. अन्देश, आई.जी. जेल रूप कुमार अरोड़ा, डी.आई.जी. जेल अमनीत कौंडल समेत संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Ramanjit Singh

Related News

Recommended News