पंजाब में किसान आंदोलन का असर, भाजपा में बगावत, महासचिव मलविंद्र कंग ने दिया त्याग पत्र

2020-10-17T20:20:08.18

चंडीगढ़, (शर्मा): केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब में उग्र हुए किसान आंदोलन को सेक अब भाजपा की प्रदेश इकाई को भी लगना शुरू हो गया है। पार्टी की प्रदेश इकाई के महासचिव एवं प्रदेश पार्टी कोर गु्रप के सदस्य मलङ्क्षवद्र ङ्क्षसह कंग ने अपने पदों के साथ-साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी त्यागपत्र दे दिया है। प्रदेश अध्यक्ष को भेजे त्याग पत्र में कंग ने आरोप लगाया है कि उनके द्वारा किसानों के मुद्दे को पार्टी प्लेटफॉर्म पर उठाने के बावजूद पार्टी की ओर से कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया।

 

उन्होंने अपने त्यागपत्र में स्पष्ट किया है कि राज्य के किसान, छोटे कारोबारी व आढ़तिए पिछले कुछ सप्ताहों से अपनी जायज मांग को लेकर आंदोलनरत हैं, क्योंकि किसानों के हक में उनके द्वारा पार्टी स्तर पर उठाए गए तर्क को पार्टी ने नजरअंदाज किया इसलिए वह पार्टी के सभी पदों व प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र दे रहे हैं। कंग ने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई व केंद्रीय नेताओं ने उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया।

कहा जाता था कि कानून किसानों के हित में हैं तथा किसानों को सिर्फ गुमराह किया गया है। कंग ने कहा कि त्यागपत्र देने के बाद अपनी आत्मा की आवाज को सुनते हुए वह किसानों के आंदोलन में कूद जाएंगे।


Edited By

Vikash thakur

Related News