See More

LOCKDOWN : मदद के लिए आगे आई चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाया राशन

2020-04-05T17:15:59.363

चंडीगढ़: भारत में 21 दिन के लॉकडाउन होने से फैक्ट्रियों में काम करने वाले लाखों देहाड़ीदार वर्करों तथा मजदूरों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि काम बंद होने से रोजी रोटी कमाने का ना तो कोई साधन है और ना ही अपने व अपने परिवार के लिए खाने का कोई प्रबंध। ऐसे समय में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ऐसे समय में चंडीगढ़ यूनिर्सिटी घडूआं जरूरतमंदों की मदद के लिए सामने आई है तथा आस-पास के 6 गावों जिसमें घडूआं, बता, मानखेड़ी, मामूपुर, रूरकी पुख्ता, मड़ौली शामिल है। जहां पहुंचकर गरीब व जरूरतमंदों को दो वक्त का खाना मुहैया करवा रही है।

PunjabKesari

खाना पहुंचाने के यह मुहीम लॉकडाउन के पहले दिन से ही शुरू कर दी गई थी तथा यह 21 दिन चलेगी। यूनिवर्सिटी कैंपस की मेस में सुबह-शाम खाना बनाया जाता है जिसे की यूनिवर्सिटी की इस मुहीम में भाग लेने वाले वालंटियर जय वर्घन ने बताया कि फिलहाल हम 500 व्यक्तियों के लिए खाना मुहैया करवा रहे हैं लेकिन आने वाले दिनों में जरूरत पड़ने पर अधिक लोगों के लिए प्रयाप्त खाना तैयार किया जा सकता है।

PunjabKesari

चंड़ीगढ़ यूनिवर्सिटी के चांसलर श्री सतनाम सिंह संधू ने बाताया कि यधपि पंजाब सरकार इस मौक पर पूरे राज्य में गरीबों व जरूरतमंदों का खाना मुहैया करवा रही है लेकिन ऐसे समय पर राज्य के एक शिक्षा संस्थान होने के नाते से हमारा भी यह फर्ज बनता है कि जितना हो सके हम भी समाज के निचले तबके के लोगों की मदद करें।

PunjabKesari

श्री संधू ने कहा कि चंड़ीगढ़ यूनिवर्सिटी द्घारा एक व्यापक जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत गांवों में रह रहे लोगों को कोरोना जैसी भयानक महामारी के संक्रमण से बचने के लिए क्या-क्या सांवधानियां बरतनी चाहिए कि जानकारी दी जा रही है तथा यूनिवर्सिटी के एप्लाइड हेल्थ विभाग द्गारा बनाए गए हैंड सैनीटाइजर को गांवों में वृद्धाश्र्मों में अनाथाल्यों में मुफ्त बांटा जा रहा है।


Author

rajesh kumar

Related News