Delhi: बाहरी मरीजों के कारण निजी अस्पतालों में ICU बेड की बढ़ी मांग, सत्येंद्र जैन ने कही ये बात

2020-09-23T13:26:07.93

नई दिल्ली/ डेस्क। दिल्ली में कोरोना संक्रमण के लिए की गई व्यवस्थाओं के बारे में बताते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है यहां के कुछ प्रवाइवेट असप्तालों में बाहरी मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण आईसीयू बेड्स की संख्या में कमी आई है। 

जैन ने कहा है कि दिल्ली के अस्पतालों में 15,804 बेड्स में से 7,051 बेड्स भरे हुए हैं। विशेष रूप से कुछ निजी अस्पतालों में आईसीयू बेड्स बाहरी मरीजों के कारण भरे हुए हैं। क्योंकि लोग इलाज के लिए दिल्ली के विशिष्ट अस्पतालों को प्राथमिकता देते हैं। ऐसे में हमें समस्या का सामना करना पड़ रहा है।  

 

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल सरकार के उस फैसले पर रोक लगा दी है जिसमें निजी अस्पतालों को 80 प्रतिशत आईसीयू बेड्स कोरोना मरीजोंके लिए आरक्षित करने को कहा गया था। बढ़ते कोरोना मरीजों की को देखते हुए हाल ही में केजरीवाल सरकार ने आदेश दिया था कि दिल्ली के 33 निजी अस्पतालों में 80 प्रतिशत आईसीयू बेड्स कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने होंगे। इस फैसले पर हाईकोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई तक रोक लगा दी है।


वहीं दूसरी तरफ ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर जैन ने कहा है कि दिल्ली में फिलहाल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ सप्लायर्स को राजस्थान में पहले सप्लाई करने को कहा गया था, जिससे कुछ समस्या जरूर हुई थी। लेकिन फिलहाल दिल्ली के पास 6-7 दिन के लिए ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में है। जैन ने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई के मामले को बातचीत से सुलझा लिया जाएगा। बता दें कि दिल्ली में ऑक्सीजन की स्पालई उत्तर प्रदेश और राजस्थान से होती है। 

 


Edited By

Kamini Bisht

Related News