उत्तर प्रदेशः लव-जिहाद बिल को कैबिनेट से मिली मंजूरी, योगी सरकार ने पास किया अध्यादेश

punjabkesari.in Tuesday, Nov 24, 2020 - 10:08 PM (IST)

नेशनल डेस्कः उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने विवाह के लिए अवैध धर्मांतरण रोधी कानून के प्रस्ताव को मंगलवार को मंजूरी दे दी। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में शादी के लिए धोखाधड़ी कर धर्मांतरण किए जाने की घटनाओं पर रोक लगाने संबंधी कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों कथित ‘लव जिहाद' के खिलाफ कानून बनाने का ऐलान किया था। उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने कानून विभाग को लव जेहाद के खिलाफ सख्त कानून लाने का प्रस्ताव हाल में भेजा था।

ऐसा धर्म परिवर्तन भी अमान्य

  • सामूहिक धर्म परिवर्तन पर 3 से 10 साल की सजा, 50 हजार रुपए जुर्माना
  • जबरन धर्म परिवर्तन करने पर 1 से 5 साल की सजा, 15 हजार रुपए जुर्माना
  • SC/ST लड़कियों के धर्म परिवर्तन पर 3 से 10 साल की सजा, 25 हजार रुपए जुर्माना
  • मर्जी पर धर्म परिवर्तन के लिए डीएम को देनी होगी सूचना
  • केवल शादी के लिए धर्म परिवर्तन नहीं होगा मान्य
  • छल-कपट से कराया गया धर्म परिवर्तन अपराध
     

सख्त कानून की आवश्यकता पर जोर देते हुए कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा था, "राज्य में ऐसे मामलों में वृद्धि हुई है, जो सामाजिक शर्मिंदगी और दुश्मनी का कारण बने हैं। इन मामलों से माहौल खराब हो रहा है इसलिए एक सख्त कानून समय की जरूरत है।”

पिछले महीने जौनपुर और देवरिया में हुए उपचुनावों के लिए रैलियों को संबोधित करते हुए, योगी ने कहा था कि उनकी सरकार 'लव जिहाद' से निपटने के लिए एक कानून लेकर आएगी। इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय ने अभी हाल में फैसला दिया था कि सिर्फ शादी के लिए धर्म परिवर्तन को स्‍वीकार नहीं किया जा सकता है।

मुख्‍यमंत्री योगी ने अदालत के फैसले का स्‍वागत करते हुए कहा कि था, ‘‘जो लोग नाम छिपाकर बहू बेटियों की इज्‍जत से खिलवाड़ करते हैं, अगर वे नहीं सुधरे तो राम नाम सत्‍य की उनकी अंतिम यात्रा निकलने वाली है।'' उन्‍होंने क‍हा था कि लव जिहाद में शामिल लोगों के पोस्‍टर चौराहों पर लगाए जाएंगे।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Yaspal

Related News

Recommended News