अब 'नारी' नहीं दरिंदे खौफ खाएंगे, हम सब मिलकर नया भारत बनाएंगे

12/6/2019 5:00:45 PM

नेशनल डेस्क: बहुत हुआ ये नाटक अब हम नया किरदार निभाएंगे, अब नारी तू नहीं दरिंदे खौफ खाएंगे। न तारीख न सुनवाई अब बेटी तुझे मिलेगा सीधा इंसाफ। हम बात कर रहे हैं इस नए भारत की जिसकी शुरुआत आज से हो गई हैै। देश का सीना उस समय गर्व से चौड़ा हो गया जब हैदराबाद की बेटी को खून के आंसू रुलाने वालों का नामो-निशान मिटते देखा गया। 

PunjabKesari

एक रेप पीड़िता को इंसाफ मिलना जैसे इस देश में काल्पनिक सा ही हो गया था। सालों पहले दरिंदगी का शिकार हुई निर्भया को कौन भूल सकता है जो आज भी न्याय की आस लगाई बैठी है। जहां एक तरफ देश की जनता हैदराबाद की बेटी को मिले इंसाफ का जश्न मना रही है तो वहीं दूसरी और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हैवानियत का शिकार हुई पीड़िता अभी भी मौत से जंग लड़ रही है। उसके साथ-साथ लाखों ऐसी महिलाएं 'जनता के रखवालों' से सवाल कर रही हैं कि क्या वो भी ऐसा कर पाएंगे?

PunjabKesari

खैर हम तो उस नए भारत की उम्मीद कर रहे हैं ज​हां ऐसा मौका ही नहीं आए कि किसी दिशा को इस दिरंदगी का समना करना पड़ा। हम उम्मीद कर रहेे हैं उस नए भारत की जहां एक बाप को अपनी बेटी के लिए डर ना लगे। हम उम्मीद कर रहे हैं उस नए भारत की जहां रास्ते में चलती महिला को इज्जत का खौफ ना सताए। यह उम्मीद केवल हम नहीं बल्कि देश की करोड़ों महिलाएं कर रही हैं।  

PunjabKesari

ये किस्सा अभी खत्म नहीं हुआ है ड्रामा तो अभी बाक़ी है। मानवाधिकार की दुहाई देने वाले पुलिस के इस कदम का विरोध तो जरूर कर रहे हैं लेकिन शायद वह भूल गए हैं केि रोने से इंसाफ नहीं मिलता है। अगर ऐसा होता तो समाज मे कोई हिम्मत ही ना करता यह घिनोना अपराध करने की। 


vasudha

Related News