गणतंत्र दिवस पर शांति भंग करने की फिराक में हैं आतंकी: डीजीपी

punjabkesari.in Tuesday, Jan 19, 2021 - 12:34 PM (IST)


जम्मू: गणतंत्र दिवस समारोहों से पहले जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने सोमवार को कहा कि आतंकवादी केंद्रशासित प्रदेश में सांप्रदायिक सौहाद्र्र और शांति को बिगाडऩे के लिए उपद्रव मचाने को बेचैन हैं।  सिंह ने कहा कि 2021 की अपनी चुनौतियां होंगी क्योंकि पाकिस्तान ने नयी चालें अख्तियार की हैं जहां जमीन पर नये दहशतगर्द पनप रहे हैं। पुलिस महानिदेशक यहां पुलिस मुख्यालय में सेना, सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और खुफिया एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों की उच्चस्तरीय सुरक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। गणतंत्र दिवस समारोहों की तैयारियों और जम्मू जोन के सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई गयी थी। उन्होंने कहा, "शांतिपूर्ण गणतंत्र दिवस समारोहों के लिए सभी बंदोबस्त सही से करने की जरूरत है। इस तरह की सूचनाएं हैं कि आतंकवादी कुछ उपद्रव मचाना चाहते हैं क्योंकि वे सांप्रदायिक सोहार्द, शांति और व्यवस्था को बाधित करने के लिए बेचैन हैं।"

PunjabKesari

राज्य पुलिस प्रमुख ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि शत्रुओं की कुत्सित सोच को नाकाम करने के लिए संवेदनशील स्थानों और लोगों पर नजर रखी जाए। उन्होंने कहा, "साल 2021 की अपनी चुनौतियां होंगी क्योंकि पाकिस्तान में नये दहशतगर्दों के पनपने के साथ उसने नयी चालें अपनाई हैं। इनका जवाब देना होगा और इस दिशा में इस बैठक में रखे गये सुझाव बहुत मूल्यवान हैं।" डीजीपी ने निर्देश दिया कि गणतंत्र दिवस के लिए तैनातियों को बढ़ाया जा सकता है और त्वरित प्रतिक्रिया दलों, गार्डों को सतर्क रहना होगा। उन्होंने कहा, "शत्रुओं की कुत्सित सोच को नाकाम करने के लिए एक भलीभांति समन्वित निगरानी तंत्र बनाना होगा।"  डीजीपी ने अधिकारियों को बैठक में व्यक्त सभी आशंकाओं पर ध्यान देते हुए पर्याप्त कदम उठाने की सलाह दी। उन्होंने पिछले साल किये गये उत्कृष्ट कार्यों के लिए अधिकारियों की तारीफ की और कहा कि जहां तक शांति बनाये रखने, कानून व्यवस्था और आतंकवाद निरोधक अभियानों की बात है तो साल 2020 बहुत अच्छा रहा।

PunjabKesari

सिंह ने पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों के सक्रियता वाले तथा एहतियाती कदमों की प्रशंसा की जिनकी वजह से 2020 में बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद हुए और 225 आतंकवादियों को मार गिराया गया। डीजीपी ने कहा कि बलों ने जो काम किया है उसे सर्वोच्च स्तर पर मान्यता मिली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने इसके लिए अपनी बधाई प्रेषित की हैं। दिलबाग सिंह ने केंद्रशासित प्रदेश में हाल ही में हुए जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों को बड़ी सफलता करार दिया और कहा कि पिछले कुछ सालों में किये गये अच्छे काम की वजह से 2021 को लेकर अपेक्षाएं बढ़ गयी हैं और इन मानदंडों को पूरा करने के लिए सभी बलों को सतत प्रतिबद्धता, परिश्रम एवं समर्पण के साथ लगना होगा।

उन्होंने कहा, "हमें नये साल का उपयोग शांति को सुदृढ़ करने के लिए करना होगा। आगामी गणतंत्र दिवस और उसके बाद के लिए सभी सुरक्षा बंदोबस्त करने होंगे।"
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Monika Jamwal

Related News

Recommended News