See More

पीएम मोदी पर शशि थरूर का निशाना, पूछा- क्या घंटी, दीया सब विधान एक बार में हो सकता है

2020-04-05T18:02:02.003

नेशनल डेस्कः पीएम मोदी ने सभी देशवासियों से अपील करते हुए कहा है कि वो आज रात अपनी बालकनी, घर के बाहर या आंगन में मोमबत्ती, दीया या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर कोरोना के खिलाप देश की लड़ाई में एकजुटता का प्रदर्शन करें। कांग्रेस समेत कई विपक्ष के नेता पीएम मोदी की इस अपील पर तंज भी कस रहे हैं। कांग्रेस सांसद और वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने भी चुटकी ली है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा, "घंटी हो गई, दीया हो गया, हो गया दक्षिणा दान.. क्या एक बार में कर सकते हैं, सब पूजन विधि विधान।

इससे पहले शशि थरूर ने पावर ग्रिड फेल होने की आशंका जताते हुए एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड का एक लेटर भी शेयर किया है। लेटर के साथ उन्होंने लिखा, 'रविवार को 9 बजे रात में बिजली की मांग में अप्रत्याशित कमी हो जाएगी और फिर 9.09 बजे अचानक बहुत बढ़ जाएगी। इस कारण इलेक्ट्रिकल ग्रिड क्रैश कर सकते हैं। इसलिए इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड्स रात 8 बजे से ही बिजली काटने और 9.09 बजे वापस देने की सोच रहे हैं। प्रधानमंत्री ने एक और चीज के बारे में विचार नहीं किया।
PunjabKesari
वहीं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि पीएम ने यह फैसला बीजेपी के स्थापना दिवस के मौके पर किया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा है कि नरेंद्र मोदी ने पीएम के पद का गलत इस्तेमाल किया। 6 अप्रैल 1980 को बीजेपी की स्थापना हुई थी और आज 5 अप्रैल है, यानी बीजेपी ने 40 साल पूरे कर लिए हैं।

उन्होंने कहा, 'कोरोना महामारी के हालात में बीजेपी स्थापना दिवस नहीं मना सकती थी। इसलिए पीएम ने पूरे देश के हाथ में ही दीया पकड़ा दिया। पीएम मोदी को स्पष्ट करना चाहिए कि 5 अप्रैल ही क्यों? अगर इस फैसले के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण है तो वो भी बताएं।'

कुमार स्वामी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कई सारे ट्वीट किए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को चुनौती देते हुए लिखा, 'क्या पीएम ने छल से बीजेपी की स्थापना दिवस मनाने के लिए लोगों को मोमबत्ती और दीए जलाने को कहा है। अगर ये बात नहीं है तो स्थापना दिवस से एक दिन पहले की तिथि ही क्यों तय की गई। पीएम मोदी को चुनौती है अगर वो इस सवाल का कोई तार्किक जवाब दे सकते हैं तो दें।

 


Yaspal

Related News