महुआ मोइत्रा के मां काली पर विवादित बयान पर कांग्रेस में दरार, अभिषेक मनु सिंघवी ने किया विरोध

punjabkesari.in Wednesday, Jul 06, 2022 - 09:51 PM (IST)

नेशनल डेस्कः देवी काली के पोस्टर को लेकर जारी विवाद और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद महुआ मोइत्रा की टिप्पणियों के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व सांसद अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को कहा कि भारतीय संस्कृति के दिल और आत्मा को कोई तुच्छ नहीं समझ सकता।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सिंघवी ने कहा,‘‘मैं मानता हूं कि एक संतुलन बनाए रखा जाना चाहिए कि प्रतीकों, हमारी आस्था का सार, हमारी संस्कृति के दिल और आत्मा को कोई भी, कहीं भी तुच्छ नहीं बना सकता। चाहे वह कहीं और हो, विदेश में या फिर यहां।'' उन्होंने कहा,‘‘इसलिए लोगों को लोगों की भावनाओं के साथ खेलने से पहले बहुत सावधान रहना चाहिए, जो इस तरह की संस्कृति में इस तरह के प्रतीकों में परिलक्षित होते हैं।''

गौरतलब है कि मोइत्रा ने मंगलवार को एक मीडिया हाउस द्वारा आयोजित कॉन्क्लेव में अपनी टिप्पणी से विवाद खड़ा कर दिया था। उनकी टिप्पणी और इस पर प्रतिक्रिया देने के लिए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। मोइत्रा ने कहा था,‘‘हिंदू धर्म के भीतर, एक काली उपासक होने के नाते मुझे अपनी काली की इस तरह कल्पना करने की स्वतंत्रता है। यही मेरी स्वतंत्रता है और मुझे नहीं लगता कि किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचनी चाहिए। मुझे स्वतंत्रता है। जितनी आपके पास है अपने भगवान की पूजा करने के लिए।'' उन्होंने कहा,‘‘मेरे लिए, देवी काली मांस खाने वाली और शराब स्वीकार करने वाली देवी हैं।''

सिंघवी ने कहा कि सबसे सम्मानित देवी में से एक के द्दश्य प्रदर्शन पर आयोजकों को कई बार सोचना चाहिए था। ये टिप्पणियां कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पिछली टिप्पणी के विपरीत हैं, जिन्होंने महुआ मोइत्रा के पक्ष में बयान दिया था। उन्होंने कहा, ‘‘पूरे देश में हमारे पूजा के तरीके व्यापक रूप से भिन्न हैं और लोगों से निजी तौर पर अभ्यास करने के लिए धर्म को छोड़ने का आग्रह किया।''

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी ने मोइत्रा की टिप्पणियों को खारिज कर दिया और यह कहते हुए उनसे खुद को दूर कर लिया कि मोइत्रा के विचार उनकी व्यक्तिगत रूप से दिए गए थे और पार्टी द्वारा उनका समर्थन नहीं किया गया है। इसके बाद मोइत्रा ने टीएमसी को ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News