See More

नीरव मोदी की कंपनी पर ED का शिकंजा

2020-07-09T17:42:39.287

जैसलमेर: पंजाब नेशनल बैंक के घोटले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी की चार कंपनियों की जैसलमेर में लगी हुई 12 विंड मिल ईकाईयों को मुंबई से आई प्रवतन निदेशालय की विशेष टीम ने अपने कब्जे में अटैच करने का मामला जानकारी में आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 52.80 करोड़ रुपये की लागत की इन 12 विंड मिल से करीब तीन से चार करोड़ रुपये की बिजली पैदा हो रही हैं। इनमें डायमंड आर.यू.एस, सोलार एक्पोटर्, मिशल मर्चन्डाईिंसग प्राइवेट लिमिटेड व स्टेलर डायमंड की प्रत्येक 800 मेगावाट की 3-3 विंड मिल ईकाईयों कुल 9.6 मेगावट की 12 विंड मिल ईकाईयां जैसलमेर के आकल जोधा क्षेत्र में व भू कीता गांव के पास स्थापित हैं। 

नीरव मोदी की 4 कपंनियों की इन 12 विंड मिल ईकाईयों को एनरकोन इंडिया लिमिटेड यवर्तमान में विंड वल्र्ड कंपनीद्ध ने 2011 में स्थापित किया था जिस पर करीब 52.8 करोड़ रुपये का खर्चा आया था। सूत्रों ने बताया कि बुधवार को मुंबई से आई विशेष टीम ने इन 12 विंड मिल की बकायदा फोटोग्राफी की एवं इन्हें अटैच किया। ई.डी के अधिकारिक सूत्रो ने भी इसकी पुष्टि की हैं तथा अपने ऑफीसीयल ट्विटर एकाउंड में भी इस बात की जानकारी दी हैं। वही दूसरी तरफ जैसलमेर अतिरिक्त जिला कलेकटर ओम प्रकाश विश्नोई ने बताया कि ई.डी की स्पेशल टीम के जैसलमेर आने के बारे में जिला प्रशासन के पास कोई जानकारी नहीं है और नही उन्होने जिला प्रशासन से किसी प्रकार का कोई संपर्क नही किया था और ना ही पुलिस को कोई सूचना दी थी। 


Edited By

Anil dev

Related News