पुजारी हत्याकांडः राजस्थान सरकार ने मानी मांग, 10 लाख मुआवजे का ऐलान, परिजनों का धरना खत्म

10/10/2020 5:24:09 PM

जयपुरः राजस्थान में करौली जिले के सपोटरा क्षेत्र में मंदिर के पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या कर देने के बाद घरने पर बैठे परिजनों का धरना खत्म हो  गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीम ओपी मीणा, तहसीलदार दिनेश चंद्र मौके पर पहुंचे। राज्यसभा सांसद  डॉक्टर किरोड़ी मीणा से धरने को लेकर बातचीत हुई। प्रशासन ने परिवार जन को अनुबंध पर नौकरी, इंदिरा आवास, 10 लाख की आर्थिक सहायता के साथ साथ आरोपियों की गिरफ्तारी का भी आश्वासन दिया है। इसके बाद परिजनों ने धरना खत्म कर दिया।

इस बीच, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने करौली में पुजारी की हत्या मामले को लेकर सीएम अशोक गहलोत से बात की। राज्यपाल ने इस मुद्दे को लेकर चिंता जताई है। राज्यपाल सचिवालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक सीएम अशोक गहलोत ने आश्वासन दिया है कि मामलों की जांच की जा रही है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

दाह संस्कार की अपील
इससे पहले प्रशासन ने पुजारी के परिजनों से अंतिम संस्कार किए जाने का अनुरोध किया था। करौली के एसडीएम ओम प्रकाश मीणा ने कहा कि पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने चौथी डिमांड भी सामने रखी है। हम सीनियर अफसरों के जरिये सरकार को उनकी मांग के बारे में बताएंगे। हम परिजनों से अपील करते हैं कि वे दाह संस्कार करें क्योंकि शव को रखे हुए दो दिन हो चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि सपोटरा के बूकना गांव में बुधवार को राधा गोपाल मंदिर के पुजारी बाबूलाल वैष्णव को जलाकर गंभीर रुप से घायल कर दिया। बाद में पुजारी की जयपुर के एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई। इस मामले के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गुरुवार देर रात को ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Recommended News