'मन की बात' में बोले PM मोदी-देश में प्रतिदिन करीब 20,000 करोड़ रुपए का डिजिटल लेनदेन हो रहा

punjabkesari.in Sunday, Apr 24, 2022 - 12:09 PM (IST)

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 88वें एपिसोड को संबोधित करते हुए लोगों से अपीव की कि डिजिटल लेनदेन के लिए कैशलेस भुगतान को बढ़ावा दें। पीएम मोदी ने कहा कि छोटे-छोटे लेनदेन से बड़ी डिजिटल अर्थव्यवस्था बनी, देश में कैशलेस लेनदेन का दायरा बढ़ा है।

 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में प्रतिदिन करीब 20,000 करोड़ रुपए का ‘‘डिजिटल लेनदेन'' हो रहा है और इससे देश में एक डिजिटल अर्थव्यवस्था तैयार हो रही है तथा एक संस्कृति भी विकसित हो रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल लेनदेन से सुविधा भी बढ़ रही है और देश में ईमानदारी का माहौल भी बन रहा है।

 

साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर जी की जयंती पर प्रधानमंत्री संग्रहालय का लोकार्पण हुआ है। गुरुग्राम में रहने वाले सार्थक जी पहला मौका मिलते ही संग्रहालय देख आए। उन्होंने नमो एप पर पीएम संग्रहालय की ऐसी चीजों के बारे में लिखा है, जो उनकी जिज्ञासा को और बढ़ाने वाली थी।

 

इस दौरान पीएम मोदी ने देशभर से जुड़े म्यूजियम के बारे में सवाल किए...

  • 1. किस शहर में एक रेल म्यूजियम है, जहां 45 साल से लोग भारतीय रेल की विरासत देख रहे हैं।
  • 2. मुंबई में कौन सा म्यूजिमय हैं, जहां करंसी का इवोल्यूशन देखने को मिलता है. यहां 6वीं शताब्दी के सिक्कों के साथ ई मनी भी मौजूद है।
  • 3. विरासत-ए-खालसा किस म्यूजियम से जुड़ा है। यह म्यूजियम पंजाब के किस शहर में मौजूद है।
  • 4. देश का एक मात्र काइट म्यूजिमय कहां है. यहां रखी सबसे बड़ी पतंग का आकार 22 गुणा 16 फीट है। 
  • 5. भारत में डाक टिकट से जुड़ा नेशनल म्यूजियम कहां है।
  • 6. गुलशन महल नाम की इमारत में कौन सा म्यूजियम है।
  • 7. भारत के टेक्सटाइल से जुड़ी विरासत को सेलिब्रेट करता है।

 

दिल्ली की रहने वाली दो बहनों का किया जिक्र
पीएम मोदी ने दिल्ली की रहने वाली दो बहनों सागरिका और प्रेक्षा के ‘‘कैशलेस डे आउट'' का संकल्प साझा किया और देशवासियों से आग्रह किया वह भी इसे अपनाएं। उन्होंने कहा कि घर से यह संकल्प लेकर निकलें कि दिन भर पूरे शहर में घूमेंगे और एक भी पैसे का लेनदेन नकद में नहीं करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल लेनदेन अब दिल्ली या बड़े महानगरों तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसका प्रसार सुदूर के गांवों तक हो चुका है।

 

उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर कुछ साल पहले तक इंटरनेट की अच्छी सुविधा भी नहीं थी वहां भी यूपीआई से लेनदेन की सुविधा उपलब्ध है। अब तो छोटे-छोटे शहरों में और ज्यादातर गांवों में भी लोग यूपीआई से ही लेन-देन कर रहे हैं। बता दें कि हर महीने के आखिरी रविवार को पीएम मोदी अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' को संबोधित करते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News