उद्धव सरकार की बागियों विधायकों को धमकी, महाराष्ट्र में होते तो पुलिस घसीट कर लाती, डर कर गुवाहाटी में डाला डेरा

punjabkesari.in Monday, Jun 27, 2022 - 12:53 PM (IST)

नेशनल डेस्क: एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद से शिवसेना कार्यकर्ताओं के बढ़ते आक्रोश के मद्देनजर मुंबई पुलिस ने शहर स्थित विभिन्न राजनीतिक दलों और नेताओं के कार्यालयों और उनके आवास पर पुलिस बल तैनात कर दिया है। इसी बीच उद्धव सरकार के मंत्री ने एकनाथ शिंदे के गुट को धमकाते हुए कहा कि  अगर वह (बागी) महाराष्ट्र के किसी भी बिल में होते तो महाराष्ट्र की पुलिस उन्हें घसीट कर लेकर आती, इसलिए डरकर वे लोग गुवहाटी में जाकर बैठे हैं, और धमकियां दे रहे है, परिवर्तन का सपना देख रहे हैं। यह बात महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री व शिवसेना के वरिष्ठ नेता सुभाष देसाई ने कही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिस दिन भी बागी मुम्बई आयेंगे उनमें से आधे से ज्यादा शिवसेना भवन में दाखिल हो जायेंगे और बाकी को एयरपोर्ट से बाहर निकलने नहीं दिया जाएगा। 

शिवसेना को समाप्त करना चाहती है भाजपा: उद्धव 
इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का मकसद शिवसेना को समाप्त करना है क्योंकि वह हिंदू वोट बैंक को साझा नहीं करना चाहती। ठाकरे ने भाजपा और शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे को चुनौती दी कि वे शिवसेना के कार्यकर्ताओं और पार्टी को वोट देने वाले लोगों को अपने पाले में करके दिखाएं।

पार्टी के पार्षदों को ऑनलाइन माध्यम से संबोधित करते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि पार्टी के आम कार्यकर्ता उनकी ‘‘पूंजी'' हैं और जब तक वे उनके साथ खड़े हैं, तब तक वे किसी अन्य द्वारा की जाने वाली आलोचना की परवाह नहीं करते। ठाकरे ने कहा, ‘‘शिवसेना को अपने ही लोगों ने धोखा दिया है।'' शिवसेना के बागी विधायकों के गुवाहाटी के एक होटल में डेरा डालने के बाद उपजे राजनीतिक संकट के बीच ठाकरे ने पार्टी पार्षदों (नगरसेवकों) को संबोधित किया है। 

मुंबई में 10 जुलाई तक धारा 144 लागू 
वहीं शहर की पुलिस द्वारा राज्यसभा चुनाव से पहले जून के प्रथम सप्ताह में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत जारी निषेधाज्ञा 10 जुलाई तक लागू रहेगी। यह धारा एक स्थान पर पांच या अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर प्रतिबंध लगाती है। शिवसेना के अधिकतर विधायकों ने मंत्री एकनाथ शिंदे के प्रति अपनी वफादारी दिखाते हुए गुवाहाटी में डेरा डाले हुए हैं। इससे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार पर संकट मंडरा रहा है। राज्य के कुछ हिस्सों में बागी विधायकों के कार्यालयों पर हमले की कुछ घटनाएं हुई हैं।

शहर के पुलिसकर्मियों को सतर्क रहने और शहर में कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए कहा गया है। उन्हें राजनीतिक दलों के स्थानीय नेताओं के साथ समन्वय करने और उनके कार्यक्रमों, आंदोलन और बंदोबस्त से संबंधित जानकारी अग्रिम रूप से प्राप्त करने का निर्देश दिया गया है।'' पुलिस ने कहा कि विशेष शाखा के अधिकारियों को सोशल मीडिया मंच पर नजर रखने और आपत्तिजनक सामग्री, संदेश, वीडियो पोस्ट करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता कानून को हाथ में न लें, हिंसा में शामिल न हों या सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान न पहुंचा सकें। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News