''वैक्सीन सेंचुरी'': जेपी नड्डा बोले- 100 करोड़ खुराक दिया जाना विश्व पटल पर भारत के सामर्थ्य का प्रतीक

10/21/2021 2:38:22 PM

नेशनल डेस्क: भाजपा ने कोविड-19 रोधी टीकों की अब तक दी गई खुराक की संख्या 100 करोड़ के पार कर जाने के बाद बृहस्पतिवार को कहा कि यह अभूतपूर्व उपलब्धि विश्व पटल पर भारत के सामर्थ्य का प्रतीक है। देश में कोविड-19 रोधी टीकों की अब तक दी गई खुराकों की संख्या बृहस्पतिवार को 100 करोड़ के पार चली गई। भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने ‘वैक्सीन सेंचुरी' हैशटैग से ट्वीट किया, ‘‘कठिन संघर्ष के समय में अद्भुत सामर्थ्य का परिचय देते हुए भारत ने 10 माह से कम समय में 100 करोड़ कोविड वैक्सीनेशन के लक्ष्य को प्राप्त किया है।

यह स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धि होने के साथ ही विश्व पटल पर भारत के सामर्थ्य का प्रतीक है।'' उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने जिस रफ़्तार से 100 करोड़ के आंकड़े को छुआ है, ये दर्शाता है कि सरकार प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा के लिए पूर्णतः संकल्पित है। इस ऐतिहासिक क्षण पर मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का ह्रदय से धन्यवाद देता हूं व सभी स्वास्थ्य कर्मियों और जनता को बधाई देता हूं। इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर पूरे देश को बधाई देता हूं।''

सभी वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं व स्वास्थ्यकर्मियों का आभार
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इसी हैशटैग से ट्वीट किया, ‘‘अनेक चुनौतियों को पार कर इस महायज्ञ में अपना योगदान देने वाले सभी वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं व स्वास्थ्यकर्मियों का आभार व हर व्यक्ति की सुरक्षा व स्वास्थ्य हेतु संकल्पित मोदी जी का अभिनन्दन करता हूं। जय हिन्द!'' देश में टीकाकरण मुहिम की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी और इसके पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए थे। इसके बाद दो फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का टीकाकरण आरंभ हुआ था।

टीकाकरण मुहिम 100 करोड़ के पार 
टीकाकरण मुहिम का अगला चरण एक मार्च से आरंभ हुआ, जिसमें 60 साल से अधिक आयु के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीके लगाने शुरू किए गए। देश में 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक अप्रैल से आरंभ हुआ था और 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू हुआ। कोविड-19 रोधी टीकों की अब तक दी गई खुराकों की संख्या बृहस्पतिवार को 100 करोड़ के पार चली गई।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News