See More

कोरोना संकट के बीच कुवैत का बड़ा फैसला, भारतीय नागरिकों के प्रवेश पर लगाई रोक

2020-07-31T09:05:05.71

नेशनल डेस्क: महामारी कोरोना ने न केवल भारत की बल्कि पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था की हालत खराब कर रखी है। ऐसे में सभी देश अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई कड़े कदम उठा रहे हैं। इसी कड़ी में कुवैत ने भी बड़ा फैसला लेते हुए भारतीय नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। कुवैत सरकार के इस फैसले से 8 लाख लोगों के रोजगार पर संकट मंडरा रहा है। 

PunjabKesari

कुवैत सरकार ने वीरवार को सरकार ने घोषणा की कि वो पिछले तक़रीबन साढ़े तीन माह से बंद पड़ी अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं  एक अगस्त से फिर से शरू होने जा रही है। इसके साथ ही यह भी ऐलान किया कि भारत, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, ईरान और फिलीपींस से आने वालों को छोड़कर अन्य देशों में रहने वाले कुवैती नागरिक और प्रवासी आवाजाही कर सकते हैं।

PunjabKesari

अरब न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक इंडिया कम्यूनिटी सपोर्ट ग्रुप के अध्यक्ष राजपाल त्यागी ने कहा कि इस फ़ैसले से उन हज़ारों लोगों की नौकरियां चली जाएगी जो कोरोना के चलते भारत में फसे हुए हैं। कुवैत सरकार अपने नये लक्ष्य के मुताबिक देश की जनसंख्या कम करना चाह रही है, उसके लिये सबसे आसान तरीका है अप्रवासियों की संख्या कम करना। 

PunjabKesari

बता दे कि इस देश की कुल आबादी कुल आबादी 43 लाख है, इनमें से 13 लाख कुवैत के हैं और 30 लाख प्रवासी हैं। यानी कुवैत में कुवैती अल्पसंख्यक हो गए हैं। अब जो 30 लाख प्रवासी हैं, उनमें भी सबसे ज्यादा भारतीय हैं।  लगभग 10 लाख. दूसरा नंबर है इजिप्ट के लोगों का। कुवैत की गिनती दुनिया के सबसे अमीर देशों में होती है। हाल ही में कुवैत के प्रधानमंत्री शेख सबाह अल खालिद अल सबाह ने पिछले महीने कुल आबादी में विदेशियों की हिस्सेदारी 70 प्रतिशत से घटाकर 30 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया था। 
 


vasudha

Related News