केशव मौर्या ने सपा प्रमुख पर कसा तंज, पूछा- अखिलेश बताएं, मथुरा में श्री कृष्ण मंदिर का निर्माण चाहते हैं या नहीं

punjabkesari.in Thursday, Dec 02, 2021 - 08:15 PM (IST)

नेशनल डेस्कः "मथुरा की तैयारी है" वाला बयान देकर विपक्ष के निशाने पर आए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बृहस्पतिवार को उल्टा सवाल दागते हुए पूछा कि विरोध कर रहे दल मथुरा में श्री कृष्ण मंदिर के निर्माण के पक्ष में हैं या नहीं। मौर्य ने एक समाचार चैनल से बातचीत में मथुरा की तैयारी संबंधी अपने ट्वीट को लेकर विपक्ष द्वारा आलोचना के बारे में पूछे जाने पर कहा, "विपक्ष के जो भी राजनीतिक दल हैं, वे मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति करते हैं। मैं स्पष्ट तौर पर कहना चाहता हूं कि मथुरा में श्री कृष्ण की जन्मभूमि पर मंदिर बने यह श्री कृष्ण के हर भक्त की इच्छा है और आकांक्षा है। मैंने भी उसी भाव को प्रकट किया है।" उन्होंने कहा, "लेकिन मैं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उन विपक्षी नेताओं से पूछना चाहता हूं। वे बताएं कि वे श्री कृष्ण जन्मभूमि पर भगवान श्री कृष्ण का भव्य मंदिर बनने का वह विरोध करते हैं या समर्थन।"

इस सवाल पर कि क्या भाजपा आगामी विधानसभा चुनाव में कृष्ण जन्मभूमि का मुद्दा उठाएगी, मौर्य ने कहा, "चुनाव का मुद्दा न तो राम मंदिर है, न काशी विश्वनाथ मंदिर और न ही श्री कृष्ण जन्मभूमि मंदिर है.... लेकिन अखिलेश यादव से मेरा पहला सवाल है, वह बताएं कि वह श्री कृष्ण जन्मभूमि पर भगवान श्री कृष्ण का मंदिर चाहते हैं या नहीं।"

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा था "अयोध्या, काशी भव्य मंदिर निर्माण जारी है, मथुरा की तैयारी है।" उत्तर प्रदेश के आसन्न विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री के इस बयान पर सपा और बसपा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।मथुरा भगवान श्रीकृष्ण का जन्म स्थान है।

बसपा अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया,‘‘मौर्य का यह बयान आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार की आम धारणा को पुख्ता करता है। जनता को भाजपा के इस आखिरी हथकंडे यानी हिंदू-मुस्लिम राजनीति से सावधान रहना होगा।''

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी मौर्य के इस बयान पर कहा कि इससे साबित होता है कि भाजपा को आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी निश्चित हार का आभास हो गया है। मथुरा जिला प्रशासन ने भगवान कृष्ण की 'वास्तविक जन्म भूमि' पर उनकी प्रतिमा स्थापित करने की अखिल भारत हिंदू महासभा की घोषणा के मद्देनजर 28 नवंबर को धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी है। महासभा का दावा है कि भगवान श्री कृष्ण का जन्म मथुरा के प्रमुख मंदिर के बगल में स्थित मस्जिद के अंदर है। मथुरा के जिला अधिकारी नवनीत सिंह चहल ने कहा कि किसी को भी मथुरा में माहौल खराब करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News