लाठीचार्ज के खिलाफ सड़कों पर उतरे JNU के नेत्रहीन छात्र, उठाकर थाने ले गई पुलिस

11/20/2019 1:36:57 PM

नेशनल डेस्क: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के दृष्टिहीन छात्रों के एक फोरम ने बुधवार को कहा कि उन्हें पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए पुलिस मुख्यालय की ओर जाने की अनुमति नहीं दी गई। फोरम ने कहा कि जेएनयू दृष्टिहीन छात्र फोरम के सदस्य नए पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन करने जय सिंह मार्ग जा रहे थे, लेकिन उनकी बस को रोक दिया गया और वसंत कुंज थाने ले जाया गया। 

PunjabKesari

फोरम ने कहा कि उनकी बस को आईटीओ स्थित पुराने पुलिस मुख्यालय ले जाया गया। फोरम ने सोमवार को हॉस्टल शुल्क वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुए कथित पुलिस लाठीचार्ज की निन्दा की थी और कहा था कि पुलिस को माफी मांगनी चाहिए। पुलिस ने लाठीचार्ज के आरोप को खारिज किया था। 

PunjabKesari

बता दें कि सोमवार को जेएनयूके नेत्रहीन छात्र समेत अन्य जेएनयू छात्रों को बेरहमी से दिल्ली पुलिस द्वारा पीटे जाने को लेकर ये विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। आरोप है कि पुलिस ने दृष्टिहीन छात्र शशिभूषण समद को बूट से रौंदने की कोशिश की इससे उन्हें काफी चोटें आई। 

PunjabKesari

गौरतलब है कि जेएनयू के छात्र हॉस्टल फीस में भारी इजाफे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र संघ की ओर से जारी पर्चे में कहा गया कि फरवरी 2019 के सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक सेकेंड्री और हायर से 94,036 करोड़ रुपयों का इस्तेमाल नहीं किया गया। सीएजी रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि 7298 करोड़ रुपये रिसर्च और विकास कार्यों में खर्च होने थे जो नहीं हुए। 
 


vasudha

Related News