J&K: अनंतनाग मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने ढेर किए 2 आतंकी, 72 घंटे में मारे गए 12 दहशतगर्द

2021-04-11T14:53:04.657

नेशनल डेस्क: जम्मू-कश्मीर में इस हफ्ते के शुरू में प्रादेशिक सेना (टीए) के एक जवान की हत्या के लिए कथित रूप से जिम्मेदार दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने रविवार को दक्षिण कश्मीर जिले के बिजबेहरा में हुई एक मुठभेड़ में मार गिराया है। वहीं इससे पहले चित्रीगाम कलन इलाके में सुरक्षाबलों ने छिपे दो अन्य आतंकवादियों को भी मुठभेड़ में मार गिराया है। इससे पहले शनिवार को एक आतंकी मारा गया था। दिलबाग सिंह, डीजी, J&K पुलिस ने बताया कि सुरक्षा बलों ने 72 घंटे में 12 आतंकियों को मार गिराया है।

PunjabKesari

त्राल और शोपियां मुठभेड़ में 7 आतंकी, हरीपोरा में तीन आतंकी और अब दो आतंकी बिजबेहरा में मारे गए। IGP विजय कुमार ने बताया कि मारे गए दो आतंकवादियों ने बिजबेहरा में छुट्टियों के लिए अपने घर लौटे जवान मोहम्मद सलीम की शुक्रवार को हत्या कर दी थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि खुफिया सूचना के आधार पर राष्ट्रीय राइफल्स (RR), जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवानों ने रविवार सुबह बिजबेहरा के सेमथान गांव में संयुक्त रूप से घेराबंदी और तलाश अभियान (कासो) शुरू किया।

PunjabKesari

मस्जिद में घुसे आतंकी
शनिवार को शोपियां की एक मस्जिद में आतंकवादी घुस गए और उसके बाहर सुरक्षा बल और चिंतित स्थानीय लोग जमा हो गए। कश्मीर के शोपियां शहर की स्थिति विस्फोटक थी और चुनौती यह थी कि धार्मिक स्थल को बचाते हुए आतंकवादियों को ढेर किया जाए और इस ‘मिशन को अंजाम दिया गया'। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि दक्षिण कश्मीर के इस अशांत शहर में 20 साल से अधिक समय में पहली बार पांच आतंकवादियों को मार गिराया गया। इस बीच दहशतगर्दों के माता-पिता और इलाके के प्रतिष्ठित नागरिकों ने करीब 17 बार उनसे आत्मसमर्पण की अपील की। उन्होंने बताया कि गुरुवार की रात और शुक्रवार की दोपहर को माहौल तनावपूर्ण हो गया और लाउडस्पीकर से जामा मस्जिद के अंदर घुसे आतंकवादियों से उनके माता-पिता, नागरिक और सेना के कर्मी लगातार अपील कर रहे थे।

PunjabKesari

अधिकारियों ने बताया कि दहशतगर्दों से बातचीत करने के लिए कुछ लोगों को मस्जिद में भेजा गया ताकि वे शांतिपूर्ण तरीके से बाहर आ जाएं। जब इसमें कामयाबी नहीं मिली तो आखिरकार, शुक्रवार दोपहर को, प्रतिबंधित संगठन अंसार गज़वतुल हिंद के पांच में से अंतिम आतंकी को मार गिराया गया और मस्जिद को न्यूनतम नुकसान हुआ। अंसार गज़वतुल हिंद, जैश-ए-मोहम्मद का मुखौटा संगठन है।

PunjabKesari

घटना के बारे में अधिकारियों ने कहा कि आतंकवादियों के आत्मसमर्पण से इनकार करने पर 44 राष्ट्रीय राइफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस के बल अडिग रहे और मस्जिद के पास तक पहुंच गए। यह पहली बार है कि जब शोपियां में मस्जिद के अंदर आतंकवादियों को घेरा गया। शोपियां में पिछली बड़ी मुठभेड़ 1990 के दशक के अंत में हुई थी जब चार आतंकवादियों को ढेर किया गया था।

PunjabKesari


Content Writer

Seema Sharma

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static