''आरोपी कन्हैयाला की हत्या करने में नाकाम रहते तो 2 और युवक देते वारदात को अंजाम'': NIA का बड़ा खुलासा

punjabkesari.in Saturday, Jul 02, 2022 - 07:47 PM (IST)

नेशनल डेस्क: उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की दिन दहाड़े हुई निर्मम हत्या ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। देश के लोगों में इस हत्या को लेकर काफी गुस्सा है और आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की जा रही है। इसी बीच जांच एजेंसी NIA ने कन्हैयालाल ही हत्या को लेकर बड़ा खुलासा किया है। जांच एजेंसी के अनुसार, इस निर्मम हत्या के आरोपी गौस और रियाज की मदद के लिए कन्हैयाला की दुकान के पास ही दो और युवक तैयार खड़े थे। अगर गौस और रियाज कन्हैयालाल की हत्या करने में सफल नहीं होते तो पास खड़े ये दोनों युवक कन्हैयालाल की हत्या को अंजाम देते। फिलहाल इन दोनों युवकों को NIA ने गिरफ्तार कर लिया है। इन दोनों आरोपियों ने NIA की पूछताछ में इस बात का खुलासा किया है। 

कन्हैयालाल के हत्यारों पर अदालत के बाहर हुई पिटाई
आक्रोशित वकीलों ने शनिवार को दर्जी कन्हैयालाल के हत्या के आरोपियों पर हमला किया.. उनके कपडे फाड़ दिये और अभ्रद भाषा का प्रयोग करते हुए उनपर लातों और घूसों से हमला किया। पुलिस ने किसी तरह उन्हें (आरोपियों को) वकीलों के लातों और घूसों के बीच पुलिस वाहन में चढाया। कड़ी सुरक्षा के बीच चारों आरोपियों को शनिवार को एनआईए की नामित अदालत में पेश किया गया। हालांकि पुलिस ने उन्हें पुलिस वाहन में बैठाया और वहां से ले गई। अदालत परिसर में भारी पुलिस जाप्ता का प्रबंध किया गया था और वकीलों ने ‘‘पाकिस्तान मुर्दाबाद और कन्हैया के हत्यारों को फांसी दो'' के नारे लगाये।

चारों आरोपियों को दस दिन की पुलिस रिमांड
उदयपुर के दर्जी कन्हैयालाल हत्याकांड में गिरफ्तार चार आरोपियों को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की एक नामित अदालत ने 10 दिन की पुलिस रिमांड पर एनआईए को सौंपा दिया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चारों आरोपियों को शनिवार को एनआईए की नामित अदालत में पेश किया गया। हत्याकांड के मुख्य आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को हत्या के कुछ घंटों बाद मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था और दो अन्य आरोपी मोहसिन और आसिफ को कथित तौर पर कन्हैया की दुकान की रेकी करने और हत्या की साजिश में शामिल होने के आरोप में बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया था। एक वकील ने अनुसार अदालत ने आरोपियों को दस दिन के 12 जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेज दिया।  

कई अधिकारी सस्पेंड
उदयपुर कन्हैया लाल हत्याकांड में राजस्थान सरकार ने एसपी और आईजी को हटाने के बाद तीन पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। डीजीपी एमएल लाठर ने आदेश जारी कर एएसपी सिटी अशोक मीणा, सर्किल ऑफ़िसर ईस्ट जरनैल सिंह, सर्किल आफिसर वेस्ट जितेंद्र आंचलिया, सूरजपोल एसएचओ लीलाधर मालवीय को सस्पेंड कर दिया। इन अधिकारियों के कन्हैया लाल की तरह एक व्यापारी को नूपुर शर्मा मामले में गिरफ़्तार करने के बाद बेल पर आने पर हत्या की धमकी मिलने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं करने पर सस्पेंड किया गया है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News