पीएम मोदी से मिले गृह मंत्री अमित शाह, जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात को लेकर हुई चर्चा

10/19/2021 6:36:58 PM

नई दिल्लीः देश में सुरक्षा स्थिति की व्यापक समीक्षा करने के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर उन्हें जम्मू कश्मीर में चुनिंदा वर्गों के खिलाफ आतंकवादी हिंसा से उत्पन्न हालात सहित आंतरिक सुरक्षा से संबंधित आंकलन से अवगत कराया। जम्मू कश्मीर में आम नागरिकों को निशाना बनाये जाने की घटनाओं के बाद से सक्रिय केन्द्रीय गृह मंत्री ने सोमवार को ही गुप्तचर ब्यूरो मुख्यालय में राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति सम्मेलन में करीब छह घंटे तक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, गुप्तचर ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार के साथ साथ विभिन्न राज्यों के पुलिस महानिदेशकों, पुलिस महानिरीक्षकों अर्द्धसैनिक बलों के प्रमुखों के साथ साथ देश में और विशेष रूप से जम्मू कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की व्यापक समीक्षा की थी।

इस बैठक में सभी सुरक्षा एजेन्सियों के प्रमुखों ने अपने क्षेत्राधिकार से संबंधित सुरक्षा स्थिति के बारे में अपना आकलन गृह मंत्री के समक्ष रखा। शाह ने प्रधानमंत्री आवास जाकर मोदी से भेंट की और उन्हें देश भर में आंतरिक सुरक्षा की स्थिति से संबंधित आंकलन से अवगत करया तथा सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए उठाये जा रहे कदमों, उपायों एवं रणनीति के बारे में चर्चा की।

सूत्रों के अनुसार मुलाकात के दौरान जम्मू कश्मीर की स्थिति और वहां आतंकवादियों द्वारा आम नागरिकों को निशाना बनाये जाने तथा सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ बढने के बारे में विशेष रूप से विचार विमर्श किया गया। गृह मंत्री ने सीमा पार से ड्रोन हमलों के बढते खतरे तथा अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद उत्पन्न स्थिति खासकर युवाओं को भ्रमित करने तथा उन्हें अपने साथ जोड़ने के लिए कट्टरपंथी ताकतों द्वारा चलाये जा रहे खुफिया अभियानों पर भी बात हुई।

इसके अलावा देश के कुछ हिस्सों में नक्सली समस्या के कारण उत्पन्न स्थिति से भी गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री को अवगत कराया और इससे निपटने की योजना पर भी बातचीत हुई। जम्मू कश्मीर की स्थिति को लेकर विपक्ष के तीखे तेवरों और वहां लोगों में आशंका तथा भय की स्थिति को देखते हुए सरकार पर सख्त कदम उठाने का दबाव बढ रहा है। इस समूचे घटनाक्रम के बीच शाह के आगामी 23 तारीख से तीन दिन के जम्मू कश्मीर दौरे को देखते हुए इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। 

इस बीच सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी दो दिन के दौरे पर जम्मू गये हुए हैं। उन्होंने आज नियंत्रण रेखा से लगते अग्रिम क्षेत्रों का दौरा कर सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया। प्रमुख कमांडरों ने उन्हें क्षेत्र के मौजूदा हालातों ,सीमा पार से घुसपैठ के प्रयासों तथा उनसे निपटने के लिए सेना द्वारा की जा रही कारर्वाई से अवगत कराया। 

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों में जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हिंसा में अब तक 11 आम नागरिक मारे जा चुके हैं जिनमें से पांच प्रवासी हैं। इसके अलावा मुठभेड़ों तथा घात लगाकर किये गये हमलों में सुरक्षा बलों के कई जवान और अधिकारी भी शहीद हुए हैं। सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान आतंकवादियों का भी खात्मा किया है। इन घटनाओं की पृष्ठभूमि में अब सबकी नजरें श्री शाह के शनिवार से शुरू हो रहे घाटी के दौरे पर लगी हैं। उन्होंने हाल ही में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में कहा था कि सरकार किसी भी तरह की आतंकी कारर्वाई को बर्दाश्त नहीं करेगी और इसका माकूल जवाब दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह की कारर्वाई होगी उसका उसी तरह से जवाब दिया जायेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Recommended News