हरजिंदर कौर का निष्कासन वापिस

punjabkesari.in Wednesday, May 15, 2024 - 07:45 PM (IST)

 

चंडीगढ़/15मई: (अर्चना सेठी) शिरोमणी  अकाली दल ने आज पार्टी की वरिष्ठ नेता और शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी(एसजीपीसी) की मैंबर हरजिंदर कौर का निष्कासन तत्काल प्रभाव से वापिस ले लिया है।यहां एक प्रेस बयान जारी करते हुए पार्टी के जनरल सचिव बलविंदर सिंह भूंदड़ ने कहा,‘‘मामले के सभी तथ्यों को जांचने के बाद यह पता चला है कि  हरजिंदर कौर को सुबह की सैर के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार द्वारा अपमानित किया गया था। उन्होने कहा कि पूरे मामले की जांच के बाद यह पता चला कि हरजिंदर कौर ने भाजपा के लिए कोई प्रचार नही किया और न ही भगवा पार्टी के किसी भी मंच पर गई हैं। उन्होने कहा कि इसीलिए पार्टी ने पहले के फैसले के फैसले की समीक्षा कर  हरजिंदर कौर का निष्कासन वापिस लेने का निर्णय लिया है।’’

 

बलविंदर सिंह भूंदड़ ने कहा कि हरजिंदर कौर के खिलाफ पार्टी की कार्रवाई के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने अकाली दल की शीर्ष लीडरशीप से संपर्क किया और पार्टी को  हरजिंदर कौर की पार्टी के साथ साथ बड़े पैमाने पर ‘‘कौम’’ की ‘‘सेवा’’ के बारे में अवगत कराया। ‘‘ पार्टी के ध्यान में यह भी लाया गया कि बीबी जी ने सामाजिक सेवा, धार्मिक और राजनीतिक गतिविधियों के माध्यम से केंद्र शासित प्रदेश में अकाली दल के लिए नाम बनाने के अलावा किसान मोर्चा के साथ-साथ बंदी सिंहों की रिहाई के लिए चलाए गए अभियान में भी भाग लिया था।  हरजिंदर कौर  ने यह भी स्पष्ट किया कि वे एक अकाली थी और हमेशा अकाली ही रहेंगी और अकाली आदर्श उनके जीवन और आचरण की बुनियाद हमेशा बने रहेंगें।

 

 भूंदड़ ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल को भी पूरे मामले से अवगत कराया गया है, जिसमें यह तथ्य भी शामिल है कि  हरजिंदर कौर  ने व्यक्तिगत उदाहरण के माध्यम से हमेशा पंथक मूल्यों को बरकरार रखा है। उन्होने कहा,‘‘  हरजिंदर कौर  का सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी शानदार रिकाॅर्ड रहा है और दुनिया भर में पंथक मूल्यों का प्रचार करने के लिए जानी जाती हैं। उनकी सादगी और सम्मानजनक आचरण की सभी ने सराहना की। इसीलिए हरजिंदर कौर को पार्टी में बहाल करने का फैसला लिया गया है।’’

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Archna Sethi

Recommended News

Related News