गुजरात:नाराजगी की अटकलों के बीच शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे नितिन पटेल, नए CM ने लिया आशीर्वाद

punjabkesari.in Monday, Sep 13, 2021 - 04:32 PM (IST)

नेशनल डेस्क: गुजरात के नवनियुक्त मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के मुख्यमंत्री बनने से कथित तौर पर ‘नाराज़' राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तथा दिग्गज पाटीदार नेता नितिन पटेल आज उनके शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहे। रविवार शाम राजभवन पहुंचकर पटेल के सरकार बनाने के औपचारिक दावे के दौरान नितिन पटेल की अनुपस्थिति को लेकर उनकी नाराज़गी की अटकलें तेज़ हो गई थीं। पर आज शपथ विधि से पहले ही नवनियुक्त मुख्यमंत्री अहमदाबाद में सुरधारा सकर्ल के निकट स्थित पटेल के आवास पर जाकर उनसे मिले और उनका आशीर्वाद ग्रहण किया। आम तौर पर हंसते मुस्कराते रहने वाले नितिन पटेल का चेहरा हालांकि मुरझाया ही था पर उन्होंने पत्रकारों से कहा की अपने ही समुदाय के पटेल उनके करीबी मित्र हैं। वह जरूरत पड़ने पर उन्हें मार्गदर्शन भी देंगे। इसके बाद नितिन पटेल के भी राजभवन पहुंचने से सत्तारूढ़ भाजपा ने राहत की सांस ली। उन्होंने शपथ लेने के बाद पटेल को मंच पर गर्मजोशी से बधाई भी दी।

 

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री अमित शाह और चार भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी उपस्थित थे। पहली बार के विधायक भूपेंद्र पटेल के नाम की अचानक घोषणा से पहले जिन नामों को मुख्यमंत्री की रेस में सबसे आगे माना जा रहा था उनमें एक राज्य के सबसे अनुभवी भाजपा नेता तथा आधा दर्जन से अधिक बार विधायक और मंत्री रह चुके नितिन पटेल का नाम शामिल था। सूत्रों ने बताया कि भूपेंद्र पटेल के नाम की घोषणा के बाद ही वह अपने गृह नगर महेसाणा रवाना हो गए। आम तौर पर मीडिया से खूब बात करने वाले पटेल ने तब पत्रकारों से बात भी नहीं की। इससे पहले साल 2017 में जब उन्हें वित मंत्रालय का प्रभार नहीं दिया गया था तो उन्होंने लगभग खुले बग़ावती तेवर अपना लिए थे।

 

पार्टी आलाकमान को उनके सामने झुकना पड़ा था। बताया जा रहा है कि उन्हें इस बार उत्तराखंड के राज्यपाल पद का प्रस्ताव दिया गया है। राजनीति के माहिर नितिन पटेल सक्रिय राजनीति में बने रहना चाहते हैं। बताया जाता है कि उनके पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से भी अच्छे सम्बंध नहीं थे। रूपाणी जहां अमित शाह के पसंदीदा थे वही नितिन पटेल गुजरात की राजनीति में शाह का विरोधी खेमा मानी जाने वाली आनंदीबेन पटेल के नज़दीकी माने जाते हैं। राज्य में अगले साल होने वाले चुनाव के मद्देनज़र भाजपा पटेल की नाराज़गी की पूरी तरह अनदेखी नहीं कर सकती।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News