सरकारी पैनल का दावा, भारत में फरवरी 2021 तक खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस

2020-10-18T17:40:43.853

नई दिल्लीः देश में रविवार को कोरोना संक्रमण के 61,893 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही भारत में संक्रितमों की संख्या 74 लाख के पार हो चुकी है। मगर भारत सरकार के बनाए वैज्ञानिकों के पैनल का दावा है कि कोरोना अपने पीक से गुजर चुका है। पैनल के मुताबिक, कोरोना वायरस के फरवरी 2021 में खत्म होने की संभावना है।

पैनल के मुताबिक, भारत में कोरोना के 10.6 मिलियन यानी एक करोड़ छह लाख से ज्यादा मामले नहीं होंगे। अभी भारत में कोरोना के कुल मामले 75 लाख के करीब हैं। आईआईटी हैदराबाद के प्रोफेसर एम. विद्यासागर की अध्यक्षता में बनी विशेषज्ञ समिति ने कहा कि वायरस से बचाव को लेकर किए जा रहे उपाय जारी रखे जाने चाहिए। समिति ने महामारी के रुख को मैप करने के लिए कम्प्यूटर मॉडल्स का इस्तेमाल किया है। फरवरी तक महामारी पर काबू होने की भी उम्मीद है। लेकिन यह तभी संभव होगा जब लोग कोरोना से बचाव के नियमों का पूरी तरह से पालन करना जारी रखें।

समिति के मुताबिक, अगर भारत ने मार्च में लॉकडाउन न लगाया होता तो देशभर में 25 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई होती। अबतक इस महामारी से 1.14 लाख मरीजों की मौत हुई है। समिति ने कहा है कि त्योहारों और संर्दियों के चलते संक्रमण बढ़ सकता है। इसलिए वर्तमान सुरक्षात्मक उपायों को जारी रखा जाना चाहिए।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर संभव
भारत में सर्दियों के मौसम में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर देखने को मिल सकती है। कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में शामिल भारत के लिए यह चिंता का विषय है। देश पहले से ही वायरस का दंश झेल रहा है और अगर महामारी दूसरी लहर आती है तो स्थिति अधिक बिगड़ सकती है।

देश में कोरोना के मामले 75 लाख के करीब
देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 61,871 नए मामले सामने आए हैं। कुल मामलों की संख्या 74,94,551 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं कल्याण मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से 1,033 मौतें हुई हैं। जिसके बाद कुल मौतों की संख्या 1,14,031 हो गई है। देश में रिकवरी दर बढ़ कर 88.03 फीसदी हो गई है, जबकि मृत्यु दर 1.53 प्रतिशत है। भारत में रोजाना कोरोना मामलों की संख्या अब अमेरिका से कम हो गई है। 


Yaspal

Related News