"नरेंद्र मोदी की कप्तानी में वित्त मंत्री ने लगाया शतक"

2021-03-23T16:24:02.603

नेशनल डेस्क:  भाजपा ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी संकट के कारण अर्थव्यवस्था के लिए पैदा हुए मुश्किल हालात में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कप्तानी में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में स्वास्थ्य, आधारभूत ढांचा, कृषि, जन कल्याण एवं आत्मनिर्भर भारत की योजनाओं को प्राथमिकता देकर शतक लगाया है। लोकसभा में ‘वित्त विधेयक 2021’ पर चर्चा में भाग लेते हुए भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार में हर कदम गरीबों के हित को ध्यान में रखकर और सबका साथ, सबका विकास एवं सबका विश्वास’ की भावना के साथ उठाया गया है।

 

पूरे देश में वित्त मंत्री की हाे रही प्रशंसा: भाजपा सांसद
भाजपा सांसद  ने कहा कि संकट के समय भी इस बार के बजट में आम लोगों पर कर का किसी तरह का बोझ नहीं डाला गया जिसके लिये पूरे देश में प्रधानमंत्री मोदी और वित्त मंत्री की प्रशंसा हो रही है ।अग्रवाल ने कोरोना संकट और अर्थव्यवस्था के लिए मुश्किल हालात का उल्लेख करते हुए कहा कि क्रिकेट में प्रत्येक शतक का महत्व होता है, लेकिन पिच मुश्किल हो, विरोधियों ने घेर रखा हो तो उस वक्त के शतक का अलग ही महत्व है । कोरोना काल में वित्त मंत्री ने अपने कप्तान प्रधानमंत्री के नेतृत्व में दबाव के समय शतक लगाया है। उन्होंने कहा कि इन मुश्किल हालात में भी बजट में स्वास्थ्य, आधारभूत ढांचा, कृषि, जन कल्याण एवं आत्मनिर्भर भारत की योजनाओं को प्राथमिकता दिया गया है ।


देश प्रगति कर रहा है: राजेंद्र अग्रवाल
राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि  विकास के सभी मानकों पर देश प्रगति कर रहा है...कोरोना संकट भी में विदेशी मुद्रा भंडार 580 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। यह सरकार की नीतियों के प्रति विश्वास का प्रमाण है। अग्रवाल ने केंद्र सरकार की कई योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार के समय केंद्र से एक रुपये आवंटित होता है तो लोगों तक एक रुपया ही पहुंचता है। किसानों के कल्याण के कदमों एवं कृषि कानूनों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आम किसान मानता है कि तीनों कृषि किसानों के पक्ष में हैं।

 

भजपा ने कांग्रेस पर लगाए आरोप
भाजपा सांसद ने यह भी कहा कि करदाताओं की संख्या दो गुना हो गई और अब यह छह करोड़ से अधिक है..केंद्र में मोदी सरकार बनने के समय देश का बजट 16 लाख करोड़ रुपये था, लेकिन आज बजट अब 34 लाख करोड़ रुपये हो गया। उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के बाद कांग्रेस की सरकारों के वामपंथ रुझानों के कारण देश में उद्योगों का नुकसान हुआ और साथ ही भौगोलिक क्षेत्र का भी नुकसान हुआ। अग्रवाल ने कहा कि 1991 में वैश्वीकरण से कोई भारी परिवर्तन नहीं हुआ, लेकिन देश एक बड़ा बाजार बन गया। भाजपा सांसद ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने वोटबैंक को ध्यान में रखकर नीतियां बनाईं, लेकिन मोदी सरकार ने ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ की भावना से काम किया है।


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static