अनुच्छेद 370 हटने के बाद बदले फारूक अबदुल्ला के सुर, बोले- कश्मीर भारत का हिस्सा है, था और हमेशा रहेगा

punjabkesari.in Sunday, Feb 25, 2024 - 09:42 PM (IST)

नेशनल डेस्कः अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को यहां एक कार्यक्रम में कहा कि कश्मीर भारत का हिस्सा है, भारत का हिस्सा रहा है और हमेशा रहेगा। ‘संविधान और राष्ट्रीय एकता सम्मेलन-2024' में समापन भाषण देते हुए श्रीनगर से लोकसभा सदस्य अब्दुल्ला ने आगामी आम चुनावों के मद्देनजर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के बारे में चिंता व्यक्त की और यह उम्मीद जतायी कि चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करेगा कि चुनाव निष्पक्ष हो। अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘मैं अपने लोगों की ओर से आपके लिए शुभकामनाएं लेकर आया हूं। कश्मीर भारत का हिस्सा है, भारत का हिस्सा रहा है और भारत का हिस्सा रहेगा।''

अबदुल्ला ने कहा कि हालांकि, राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिए इसकी विविधता को संरक्षित किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, ‘‘धर्म हमें विभाजित नहीं करता, धर्म हमें एकजुट करता है। ऐसा कोई धर्म नहीं है जो कि खराब है बल्कि हम लोग इसका गलत अनुसरण करते हैं। अगर हम आगे बढ़ना चाहते हैं, तो आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता एक-दूसरे के साथ खड़ा होना, चुनौतियों का सामना करना है जिसका यह देश एक साथ सामना करता है, और उन कुरीतियों से लड़ना है जो हमें विभाजित करना चाहती हैं।''

नेकां अध्यक्ष ने यह दावा किया कि आज संविधान खतरे में है और संविधान को मजबूत रखने के लिए हर किसी को एक साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर ऐसा नहीं करते हैं तो हमें आने वाले दिनों में इसका खेद होगा। जैसा कि आज हम इस मशीन (ईवीएम) पर खेद करते हैं जो कई साल पहले आयी थी।'' उन्होंने कहा, ‘‘आज हम इस मशीन पर यकीन नहीं करते हैं क्योंकि इसमें छेड़छाड़ की गई है और वोट देने वाले लोग यह नहीं जान पाते कि उनका वोट उसी प्रत्याशी को गया है जिसके सामने का उन्होंने बटन दबाया था। मैं उम्मीद करता हूं कि निर्वाचन आयोग इस पर ध्यान देगा और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करेगा।''

 मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत के धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक चरित्र को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा समर्थित फासीवादी ‘‘हिंदुत्व राष्ट्र' में बदलने का प्रयास जारी है जिसका समाज ‘मनुस्मृति' और जातिगत दमन तथा वर्गीकरण पर आधारित होगा। येचुरी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री (नरेन्द्र मोदी) देश तथा संविधान को बर्बाद करने पर तुले हुए हैं और उन्हें पद से हटाया जाना चाहिए तथा पराजित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘भारत को बचाने के लिए हमें इस अमृत काल को लोगों के अमृत काल में बदलना होगा, सभी भारतीय देशभक्तों को एक साथ आना होगा और हमारे देश, हमारे चरित्र, हमारे गौरव तथा हमारे व्यक्तित्व तथा समानता को बहाल करने के लिए लड़ना होगा।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Recommended News

Related News