परिवार के वकील का दावा, ''एम्‍स के डॉक्‍टर ने बताया-सुशांत सिह राजपूत का गला घोंटा गया''

2020-09-25T20:14:07.37

नई दिल्लीः बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की ओर से कई फिल्मी सितारों को समन भेजने के बावजूद अभिनेता के परिवार के वकील विकास सिंह ने अब तक हुई जांच पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा है कि केन्द्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) इस मामले को हत्या का मामला बनाने में देरी कर रही है। सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, ‘‘ सीबीआई की ओर से इस मामले को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले से हत्या के मामले में तब्दील करने में हो रही देरी से बेहद निराश हूं।''

सिंह ने कहा कि सुशांत मामले की जांच में शामिल हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टर ने उन्हें कई दिनों पहले बताया था कि सुशांत के शव की फोटो से यह पता चलता है कि सुशांत ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उसे गला दबाकर मारा गया था। दरअसल, मुंबई पुलिस के कथित रूप से सुशांत की मौत की गुत्थी सुलझाने में विफल रहने के बाद उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गयी है।

सुशांत सिंह के पैसों का दुरुपयोग होने की बात सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी इस मामले की जांच कर रहा है। सुशांत की मौत के मामले में मादक पदार्थों की भूमिका होने के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया है। इस मामले में एनसीबी अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। इस मामले में सबसे प्रमुख संदिग्ध रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक तथा सुशांत के घर प्रबंधक सैमुअल मिरांडा को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। सीबीआई ने सुशांत के शव का पोस्टमाटर्म करने वाले डॉक्टरों से भी मुलाकात कर पूछताछ की थी।

इसके अलावा एम्स के विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने भी सुशांत के शव का पोस्टमाटर्म करने वाले डॉक्टरों से चर्चा की थी। इस मामले में अब तक न ही एम्स और न ही सीबीआई ने कोई रिपोटर् सौंपी है। एम्स की टीम का कहना है कि उसकी रिपोटर् बेहद सटीक और निष्कर्ष से परिपूर्ण होगी। गौरतलब है कि बिहार के रहने वाले 34 वर्षीय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई में अपने घर में मृत पाए गए थे। उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर इस मामले की जांच मुंबई पुलिस से सीबीआई को सौंप दी गयी थी।

 


Yaspal

Related News