See More

कोरोना वायरस: डीआरडीओ मास्क-सैनिटाइजर के बाद अब बना रहा वेंटिलेटर

2020-03-26T23:34:59.257

नई दिल्ली: कोरोना वायरस भारत में तेजी से फैल रहा है। इस महामारी से निपटने के लिए तीनों सेनाएं और डीआरडीओ भी युद्ध स्तर पर मोर्चा संभाल रही हैं। इसमें रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) अहम भूमिका निभा रहा है। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा,‘उन्होंने सशस्त्र बलों और अन्य विभागों से अपनी तैयारियों को पूरा करने और विभिन्न स्तरों पर नागरिक प्रशासन को सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने का आग्रह किया।' 

PunjabKesari
विभिन्न रक्षा संस्थाओं द्वारा किए गए योगदान के बारे में जानकारी देते हुए बयान में बताया गया है कि डीआरडीओ प्रयोगशालाओं ने 20,000 लीटर सैनिटाइजर का निर्माण किया है और दिल्ली पुलिस को 10,000 लीटर सहित विभिन्न संगठनों को इसकी आपूर्ति की है। अधिकारियों ने बताया कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने दिल्ली पुलिस के कर्मियों को 10,000 मॉस्क की भी आपूर्ति की है। 

PunjabKesari
रक्षा मंत्रालय ने कहा कि डीआरडीओ ने मुंबई की एक इंडस्ट्री को बॉडी सूट बनाने की तकनीक दी है। अब हर दिन एक हजार बॉडी सूट बनाने शुरू करेंगे। वेंटिलेटर की जरूरत को पूरा करने के लिए भी डीआरडीओ काम कर रहा है। अभी मैसूर में एक इंडस्ट्री के साथ नए वेंटिलेटर पर काम चल रहा है। आने वाले दो-तीन दिनों में यह वेंटिलेटर भी तैयार हो जाएगा। जिसके बाद भारत इलेक्ट्रॉनिक्स और दूसरी प्राइवेट इंडस्ट्री के साथ मिलकर वेंटिलेटर बनने शुरू किए जाएंगे।

 PunjabKesari


shukdev

Related News