'चिंतन शिविर' से कांग्रेस को कुछ हासिल नहीं होगा, गुजरात और हिमाचल चुनाव को लेकर प्रशांत किशोर ने किया ये दावा

punjabkesari.in Friday, May 20, 2022 - 03:00 PM (IST)

नेशनल डेस्क: राजस्थान के उदयपुर में आयोजित कांग्रेस के 'चिंतन शिविर' में पार्टी के तमाम बड़े नेताओं ने पार्टी में सुधार और आने वाले चुनावों के लिए रणनीति तैयार की। अब इस चिंतन शिविर पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पार्टी पर फिर से निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि, मेरे विचार से कांग्रेस को चिंतन शिविर से कुछ भी सार्थक हासिल नहीं हुआ।

'चिंतन शिविर' से कांग्रेस को कुछ हासिल नहीं होगा
प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर लिखा कि उनसे बार-बार यही सवाल किया जा रहा था कि कांग्रेस के चिंतन शिविर पर उनकी क्या राय है। उन्होंने लिखा, "मेरे खयाल से ये चिंतन शिविर कुछ भी सार्थक हासिल करने में विफल रहा है। ये सिर्फ यथास्थिति को लंबा खींचने और कांग्रेस नेतृत्व को समय देने के अलावा कुछ और नहीं है। कम से कम गुजरात और हिमाचल प्रदेश में मिलने वाली हार तक।'

बता दें कि, कुछ दिन पहले प्रशांत किशोर की कांग्रेस के बड़े नेताओं के साथ पार्टी के पुनरुद्धार को लेकर लंबी बातचीत चली थी, जोकि बेनतीजा रही थी। उनकी पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात हुई थी। जिसके बाद खबरें आईं थी कि उन्होंने कांग्रेस को कई सुझाव दिए हैं। साथ ही प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें भी लगाई जाने लगीं। लेकिन बात नहीं बन पाई थी। पीके को कांग्रेस ने अपने साथ जुड़ने का न्योता दिया था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया। प्रशांत किशोर का कहना था कि कांग्रेस को मेरी जगह मजबूत नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News