'नफरत को आखिरकार पहचान ही लिया जाता है', इजराइली फिल्मकार की टिप्पणी पर कांग्रेस का केंद्र पर हमला

punjabkesari.in Tuesday, Nov 29, 2022 - 01:18 PM (IST)

 

नेशनल डेस्क: कांग्रेस ने 53वें भारत अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के जूरी प्रमुख नदव लापिद द्वारा हिंदी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स' को ‘दुष्प्रचार करने वाली' और ‘भद्दी' फिल्म बताये जाने के बाद मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि नफरत को आखिरकार पहचान ही लिया जाता है।

पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने ट्वीट किया, "प्रधानमंत्री मोदी, उनकी सरकार और भाजपा और उनके पूरे तंत्र ने 'द कश्मीर फाइल्स' का प्रचार-प्रसार किया। इफ्फी द्वारा फिल्म को खारिज कर दिया गया। जूरी प्रमुख नदव लापिद ने इसे दुष्प्रचार, भद्दा करार दिया और इसे फिल्म महोत्सव के लिए अनुचित बताया।" उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, "नफरत को आखिरकार नकारा ही जाता है।"

कांग्रेस प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने दावा किया कि सरकार के स्तर से इस फिल्म का प्रचार हुआ और नतीजा यह हुआ कि अंतरारष्ट्रीय स्तर पर देश को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। गौरतलब है कि 53वें भारत अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के जूरी प्रमुख और इज़राइली फिल्मकार नदव लापिद ने हिंदी फिल्म ‘ द कश्मीर फाइल्स' को सोमवार को ‘दुष्प्रचार करने वाली‘ और ‘भद्दी' फिल्म बताया। इफ्फी 2022 के समापन समारोह को संबोधित करते हुए लापिद ने कहा कि फिल्म समारोह में इस फिल्म का प्रदर्शन किए जाने से वह ‘परेशान और हैरान' हैं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News