नई दिल्ली सीट से केजरीवाल के सामने कांग्रेस-भाजपा ने नए चेहरों पर लगाया दांव

2020-01-21T23:16:15.507

नई दिल्लीः दिल्ली विधानसभा चुनावों में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मुख्य विरोधी दल भाजपा और कांग्रेस ने नयी दिल्ली सीट से नए चेहरों पर दांव लगाया है। भाजपा की दिल्ली इकाई के युवा मोर्चा के अध्यक्ष सुनील यादव और कांग्रेस से रोमेश सभरवाल नयी दिल्ली की प्रतिष्ठित सीट पर केजरीवाल को चुनौती देंगे। सभरवाल लंबे समय से कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई से जुड़े रहे हैं। पहले केजरीवाल के सामने दोनों ही दलों की तरफ से किसी चौंकाने वाले उम्मीदवार के नाम का ऐलान किये जाने की उम्मीद की जा रही थी हालांकि ऐसा हो नहीं पाया।

बाहरी बनाम स्थानीय होगा मुद्दा
भाजपा ने नामांकन की प्रक्रिया खत्म होने से कुछ घंटों पहले मंगलवार को 44 वर्षीय यादव की उम्मीदवारी की घोषणा की वहीं कांग्रेस ने सोमवार रात को 56 साल के सभरवाल को अपना उम्मीदवार घोषित किया। यादव ने कहा कि वह मुख्यमंत्री को “कड़ी चुनौती” देंगे क्योंकि वह स्थानीय हैं जबकि उनके विरोधी “बाहरी”। यादव मूल रूप से उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं और पेशे से वकील हैं।

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों की बहुलता वाली नई दिल्ली विधानसभा सीट पर पार्टी की जीत की संभावनाएं बेहतर हैं। उन्होंने कहा कि वह (यादव) एक हल्के प्रत्याशी नहीं है। नई दिल्ली भाजपा के लिए बेहद अनुकूल है, क्योंकि इस विधानसभा के मतदाता भाजपा के मजबूत समर्थक हैं।

कांग्रेस ने संभरवाल को मैदान में उतारा
दिल्ली कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि सभरवाल पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हैं और सरकारी कर्मचारियों के परिवार से आते हैं। उनकी मां एक शिक्षिका थीं और पिता लिपिक। वह 1980 के दशक से कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। वह पूर्व में एनएसयूआई और भारतीय युवा कांग्रेस में विभिन्न पदों पर रह चुके हैं।

 


Yaspal

Related News