See More

मुंबई: ठाणे रेलवे स्टेशन पर गूंजी किलकारी, One Rupee क्लिनिक में बच्चे का हुआ जन्म

2019-10-10T13:11:06.267

ठाणे: मुंबई जाने वाली ट्रेन से यात्रा कर रही 29 वर्षीय महिला ने गुरुवार की सुबह ठाणे रेलवे स्टेशन स्थित वन रुपी क्लीनिक में एक बच्चे को जन्म दिया। इस क्लीनिक में सुरक्षित प्रसव का यह चौथा मामला है। मध्य रेलवे ने कुछ समय पहले अपने प्रमुख स्टेशनों पर ऐसे क्लिनिकों की शुरुआत की थी जहां डॉक्टर एक रुपए के अल्प शुल्क पर परामर्श प्रदान करते हैं। 

PunjabKesari
 

महिला ने दिया बच्चे को जन्म
वन रुपी क्लीनिक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल घुले ने बताया कि कर्जत से परेल जा रही महिला यात्री सुभांति पात्रा को ठाणे के पास प्रसव पीड़ा शुरु हुआ। रेलवे अधिकारियों ने आज सुबह छह बजकर 15 मिनट पर ठाणे रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या दो पर स्थित क्लीनिक के प्रभारी डा. सलन शेख को इसकी सूचना दी।  इसके तुरंत बाद ही सुभांति को क्लिनिक में भर्ती कराया गया और वहां उसका सुरक्षित प्रसव कराया गया। महिला ने छह बजकर 30 मिनट पर एक शिशु को जन्म दिया। जच्चा और बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं तथा उन्हें आगे की देखभाल के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। घुले ने कहा, आज आपातकालीन चिकित्सा स्थिति में क्लीनिक अपनी महत्ता साबित कर रहा है। हम रेलवे के अधिकारियों को धन्यवाद देते हैं जिन्होंने हमें वन रुपी क्लीनिक के जरिए आपातकालीन चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने का अवसर प्रदान किया। 


पहले भी बच्चों के जन्म देने के मामले आ चुके हैं सामने
गौरतलब है कि ठाणे रेलवे स्टेशन पर बच्चों के जन्म देने के पहले भी मामले सामने आ चुके हैं। मामला पहले भी सामने आ चुका है। लगभग छह माह पहले इशरत शेख नाम की एक गर्भवती महिला अपने किसी रिश्तेदार के साथ अंबिवली रेलवे स्टेशन से ट्रेन में कुर्ला के एक अस्पताल में चेकअप के लिए जा रही थी, तभी अचानक ट्रेन ही उसे प्रसव पीड़ा शुरु हो गया जिसके बाद इसकी सूचना तुरंत रेलवे पुलिस को दी गई। स्टेशन पर स्ट्रेचर की व्यवस्था कि गई और महिला को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई गई। आपातकालीन चिकित्सा कक्षों को ही वन रुपी क्लीनिक के नाम से जाना जाता है जिनमें मरीज के लिए सभी आवश्यक सुविधा उपलब्ध रहती है। इन आपातकालीन स्थितियों को देखते हुए वर्ष 2017 में ठाणे स्टेशन पर वन रुपी क्लीनिक की शुरुआत की गई थी, तब से अब तक ठाणे स्टेशन पर चार सुरक्षित प्रसव किये जा चुके हैं। 


Edited By

Anil dev

Related News