किसानों से बातचीत के लिए केंद्र सरकार तैयार, पढ़ें दिनभर की 10 बड़ी खबरें

2020-11-29T20:35:31.07

नेशनल डेस्क: किसान आंदोलन के बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों से बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन खत्म कर बातचीत करें। सरकार खुले मन से बातचीत करने को तैयार है। वहीं, तीन कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज बैठक के बाद केंद्र सरकार के प्रस्ताव को सिरे से नकार दिया है। किसानों ने एक-टूक कहा है कि वे बुराड़ी स्थित निरंकारी मैदान में प्रदर्शन नहीं करेंगे, बल्कि सिंघु बॉर्डर पर ही डटे रहेंगे। इसके अलावा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए कृषि कानून पर किसानों के आंदोलन के बीच मन की बात कार्यक्रम में कहा कि इससे अन्नदाता को फायदा ही होगा।

पढ़ें दिनभर की 10 बड़ी खबरें

किसान आंदोलन खत्म कर बातचीत करें, सरकार वार्ता के लिए तैयार
किसान आंदोलन के बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों से बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन खत्म कर बातचीत करें। सरकार खुले मन से बातचीत करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों को 3 दिसंबर को बातचीत के लिए बुलाया है। किसान बातचीत माहौल बनाएं। कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि सुधार कानूनों का एमएसपी से कोई लेना-देना नहीं है। एमएसपी पहले भी थी, आगे भी जारी रहेगी।

बुराड़ी ग्राउंड पर नहीं जाएंगे किसान, कहा- हम बिना शर्त बातचीत चाहते हैं
तीन कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज बैठक के बाद केंद्र सरकार के प्रस्ताव को सिरे से नकार दिया है। किसानों ने एक-टूक कहा है कि वे बुराड़ी स्थित निरंकारी मैदान में प्रदर्शन नहीं करेंगे, बल्कि सिंघु बॉर्डर पर ही डटे रहेंगे। उन्‍होंने कहा कि सरकार की ओर से बुराड़ी में प्रदर्शन करने का प्रस्‍ताव हम नामंजूर करते हैं। हम बिना शर्त सरकार से बातचीत चाहते हैं। किसान संगठनों ने कहा कि बुराड़ी ओपन जेल है, वह आंदोलन की जगह नहीं है। बुराड़ी जेल जाने की बजाए हम दिल्ली में एंट्री के पांच रास्तों का घेराव करेंगे।हमारे पास चार महीने का राशन है तो हमारे लिए चिंता की बात नहीं है। हमारी ऑपरेशन कमेटी आगे का फैसला लेगी।

किसान आंदोलन से लेकर कोरोना तक, पढ़ें PM मोदी के मन की बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए कृषि कानून पर किसानों के आंदोलन के बीच मन की बात कार्यक्रम में कहा कि इससे अन्नदाता को फायदा ही होगा। किसानों को कई अधिकार मिलेंगे। उनकी कई परेशानियां दूर होंगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि में नए आयाम जुड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माता अन्नपूर्णा की प्रतिमा भारत को लौटाने पर कनाडा सरकार का धन्यवाद किया। पीएम मोदी ने कहा कि अन्नपूर्णा की प्रतिमा का काशी से विशेष संबंध है।

किसानों का प्रदर्शन राजनीतिक नहीं, नए कृषि कानून उनके कल्याण के लिए हैं- अमित शाह
केंद्र के नये कृषि कानूनों के विरुद्ध हजारों किसानों के आंदोलन के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि ये कानून किसानों के कल्याण के लिए हैं और उनका आंदोलन अराजनीतिक है। शाह ने संवाददाताओं से कहा, ‘नये कृषि कानून किसानों के कल्याण के लिए हैं। लंबे समय बाद किसान एक बंधन वाली व्यवस्था से बाहर आ रहे हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘जो भी राजनीतिक रूप से इनका विरोध करना चाहते हैं, करते रहें। मैंने कभी नहीं कहा कि किसानों का प्रदर्शन राजनीतिक है और ना कभी कहूंगा।'

कल वाराणसी जाएंगे PM मोदी, गंगा के किनारे जलाए जाएंगे 11 लाख दीये
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा करेंगे और वाराणसी तथा प्रयागराज के बीच छह लेन वाले राष्ट्रीय राजमार्ग का उद्घाटन करेंगे। वह वहां देव दीपावली में भी हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की तरफ से शनिवार को जारी बयान में कहा गया कि मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर कोरीडोर परियोजना स्थल का दौरा करेंगे और सारनाथ पुरातत्व स्थल भी जाएंगे। 

वादा था किसानों की आय दोगुनी करने का, बढ़ा दी अडानी- अंबानी की
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि मोदी सरकार किसानों का शोषण कर पूंजीपतियों का पोषण कर रही है और किसान की आय दोगुना करने का वादा भूल कर अडानी अम्बानी जैसे उद्योगपतियों की आय बढ़ाने में लगी है। गांधी ने कहा, ‘‘वादा था किसानों की आय दुगनी करने का, मोदी सरकार ने आय तो कई गुना बढ़ा दी लेकिन अदानी-अंबानी की। जो काले कृषि क़ानूनों को अब तक सही बता रहे हैं, वो क्या ख़ाक किसानों के पक्ष में हल निकालेंगे। अब होगी।''

महबूबा मुफ्ती- मोदी सरकार करना चाहती है पूरे मुल्क के टुकड़े
पीडीपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि जब से भाजपा ने सरकार संभाली है,  तब से  वह  मुल्क़ के टुकड़े करने के सिवा कुछ नहीं कर रहे हैं। इसके साथ ही मुफ्ती ने यह भी कहा कि हमारे डीडीसी के चुनाव लड़ने के फैसले के बाद से जम्मू-कश्मीर में उत्पीड़न बढ़ गया है। महबूबा मुफ्ती ने रविवार को कहा कि  मोदी सरकार मुझे निशाना बनाना चाहते हैं। वे मेरी पार्टी को बैन करना चाहते हैं, क्योंकि मैं आवाज उठाती हूं।

भारत में नहीं दिखाई देगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण
साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण 30 नवंबर को लगने जा रहा है।  इस बार चंद्रग्रहण कार्तिक पूर्णिमा के दिन पड़ेगा, हालांकि यह भारत में दिखाई नहीं देगा। मध्यप्रदेश के उज्जैन की शासकीय वेधशाला के अधीक्षक डॉ रामप्रकाश गुप्त ने बताया कि  30 नवंबर को प्रतिच्छाया ग्रहण होगा, लेकिन भारत में इस समय दिन की स्थिति होने के कारण यह ग्रहण भारत में द्दश्य नहीं होगा। रामप्रकाश गुप्त ने बताया कि चंद्रग्रहण दोपहर में 12:00 बज कर 59 मिनट 9 सेकंड पर शुरू होगा और इसके मध्यकाल की स्थिति दोपहर 3:00 बजकर 12 मिनट 9 सेकंड रहेगा जबकि इसका समापन शाम को 5:00 बज कर 25 मिनट 9 सेकंड पर होगा। 

कोविडशील्ड वैक्सीन के ट्रायल में साइड इफेक्ट का मामला, मांगा पांच करोड़ का मुआवजा
चेन्नई में परीक्षण के दौरान 'कोविडशील्ड' टीका लगवाने वाले 40 वर्षीय व्यक्ति ने वर्चुअल न्यूरोलॉजिकल ब्रेकडाउन और सोचने-समझने की क्षमता के कमजोर होने की शिकायत करते हुए सीरम संस्थान और अन्य को कानूनी नोटिस भेजकर पांच करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा है। साथ ही उसने टीके का परीक्षण रोकने की मांग की है। व्यक्ति ने परीक्षण टीके को असुरक्षित बताते हुए इसकी टेस्टिंग, निर्माण, और वितरण की मंजूरी रद्द करने की भी मांग की और ऐसा न करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी।

पाकिस्तान में फिर हिंदुओं पर जुल्मः इमरान सरकार व कट्टरपंथियों ने हमला कर खदेड़ा
पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर अत्याचार दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं और इनकी हालत दयनीय होती जा रही है। अल्पसंख्यकों पर जुल्मो-सितम के लिए बदनाम सिंध प्रांत में प्रांत सरकार ने हिंदू भील जाति के कई मकानों को निशाना बनाया और तोड़फोड़ की। जब इस घटना का वीडियो वायरल हुआ तो सरकार को दबाव में कार्रवाई को रोकना पड़ा लेकिन अब कट्टरपंथियों की भीड़ ने टूटे-फूटे घरों में रह रहे हिंदुओं को हमला कर खदेड़ दिया है।


Author

rajesh kumar

Recommended News