किरीट सोमैया ने महाराष्ट्र के मंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया

09/14/2021 10:37:42 AM

मुंबई, 13 सितंबर (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता किरीट सोमैया ने सोमवार को राकांपा नेता एवं महाराष्ट्र के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरिफ पर भ्रष्टाचार में शामिल होने और परिवार के सदस्यों तथा कंपनियों के जरिए ‘‘बेनामी’’ संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया।

वहीं, शिवसेना नीत महा विकास आघाडी सरकार में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने सोमैया पर हमला करते हुए कहा कि वह सत्तारूढ़ गठबंधन के नेताओं के खिलाफ निराधार आरोप लगा रहे हैं।

सोमैया ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुशरिफ के परिजनों ने सिलसिलेवार कंपनियां बनाईं और कोलकाता आधारित मुखौटा कंपनियों के माध्यम से लेन-देन किया।
पूर्व सांसद ने दावा किया कि वित्तीय लेन-देन के आंकड़ों से पता चला कि बैंक खातों में ऐसी कंपनियों से पैसा आया जो असल में वजूद में नहीं हैं।

सोमैया ने कहा कि उन्होंने आयकर विभाग को मुशरिफ परिवार के संदिग्ध वित्तीय लेन-देन और ‘‘गैर-पारदर्शी’’ आय का ब्योरा सौंपा था।

उन्होंने कहा कि मुशरिफ परिवार से संबंधित 100 करोड़ रुपये के वित्तीय लेन-देन के संबंध में आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय और भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो सहित विभिन्न एजेंसियों को जांच करनी चाहिए।

वहीं, राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने सोमैया पर हमला बोलते हुए कहा कि वह एमवीए नेताओं के खिलाफ निराधार आरोप लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अदालत ने महाराष्ट्र सदन मामले में राकांपा नेता छगन भुजबल को आरापेपमुक्त कर दिया है जिसमें सोमैया ने उनके खिलाफ आरोप लगाए थे।

मलिक ने कहा कि सोमैया को अब कोई गंभीरता से नहीं लेता है।

जुलाई 2019 में, आयकर विभाग ने तत्कालीन विधायक मुशरिफ के आवास और कोल्हापुर जिले में उनके द्वारा संचालित चीनी मिल पर छापेमारी की थी। यह छापेमारी मिल के बहीखातों में कथित विसंगतियों के आरोप में की गई थी।

इस बीच, महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने पुणे में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मुशरिफ को मानहानि का मुकदमा दायर करना चाहिए।

पाटिल ने मुशरिफ पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मुकदमे की राशि 500 ​​करोड़ रुपये या 1,000 करोड़ रुपये होनी चाहिये, लेकिन स्टांप शुल्क का भुगतान सफेद धन से होना चाहिये।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News