वर्ष 2030 तक भारत में हृदयघात से मरने वालों की संख्या सर्वाधिक होगी : डॉ. मंजूनाथ

punjabkesari.in Sunday, May 22, 2022 - 03:20 PM (IST)

बेंगलुरु, 22 मई (भाषा) प्रख्यात हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. सी. एन. मंजूनाथ् ने चेतावनी दी है कि वर्ष 2030 तक हृदय संबंधी बीमारियों से भारत में सर्वाधिक मौतें होंगी। उनका आकलन है कि उस समय हर चौथी मौत हृदय संबंधी बीमारियों से होगी।
मंजूनाथ ने एचएएल के डॉक्टरों के लिए ‘‘ स्वस्थ्य कार्यबल सुनिश्चित करें’’ विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘एचएएल मेडिकॉन-2022’’ को संबोधित करते हुए यह बात कही।
श्री जयदेव इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्कुलर साइंसेज ऐंड रिसर्च के निदेशक ने इस स्थिति से बचने के लिए संपूर्ण और एकीकृत प्रयास करने का आह्वान किया जिसमें तनाव प्रबंधन और स्वस्थ जीवन शैली को अंगीकार करना शामिल है।
उन्होंने कहा, ‘‘युवाओं और अधेड़ उम्र की आबादी में हृदय की समस्या बढ़ रही है और यह चेतावनी है।’’
कंपनी द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक दो दिवसीय सम्मेलन (21 और 22 मई) में एचएचएल के डॉक्टर एकत्र हुए हैं और वे विचारों का आदान प्रदान करेंगे।

विज्ञप्ति के मुताबिक इस सम्मेलन का उद्घाटन हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) आर. माधवन ने किया।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News