उपराज्यपाल ने किया अखनूर-ज्यौडिय़ां क्षेत्रों का दौरा, निर्माण योजनाओं- विरासत स्थलों का लिया जायजा

2020-01-19T12:49:42.477

ज्यौडय़ां(अरुण): उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने आज अखनूर-ज्यौडिय़ां क्षेत्र का दौरा कर विभिन्न निर्माण योजनाओं, विरासत स्थलों का जायजा लेने के अलावा स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भेंट की। दौरे के दौरान उपराज्यपाल ने अंबा-रां एवं प्रसिद्ध ऐतिहासिक अखनूर किले में प्राचीन बौद्ध स्थल पर जाकर इन विरासत स्थलों के संरक्षण और पुनर्स्थापन के महत्व को रेखांकित करते हुए इन्हें विरासत पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित करने पर बल दिया क्योंकि इनमें पर्यटकों को आकर्षित करने की एक बड़ी क्षमता है।

PunjabKesari

उपराज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को इन विरासत स्थलों की सुरक्षा के लिए आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने मौके पर ही अखनूर विरासत किला परिसर के बाहर स्थित पी.एच.ई. टैंक को हैड टैंक पर स्थानांतरित करने के निर्देश भी जारी किए। वहीं ज्यौडिय़ां में उपराज्यपाल ने इंद्री पत्तन क्षेत्र में 119.69 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से निर्माणाधीन 1640 मीटर लंबे इंद्री पत्तन-परगवाल पुल के कार्य प्रगति की समीक्षा करते हुए क्रियान्वयन एजैंसी को इस मैगा परियोजना का काम समय पर पूरा करने के लिए कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया। इसके अलावा उपराज्यपाल ने अखनूर के ब्लॉक विकास परिषदों के अध्यक्षों एवं नगरपालिका समिति सदस्यों के साथ बातचीत की जिन्होंने उपराज्यपाल को स्थानीय उप-जिला अस्पताल (एस.डी.एच.) भवन के निर्माण में तेजी लाने, भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र से पशु चिकित्सा अस्पताल को स्थानांतरित करने, शहर के बाहरी इलाके डस्काल में स्थित बागवानी मंडी के लिए सड़क संपर्क समेत शहर के लिए सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट की स्थापना से संबंधित मुद्दों से अवगत कराया।

PunjabKesari

उपराज्यपाल ने उनकी मांगों और मुद्दों को प्राथमिकता के आधार पर निवारण का आश्वासन दिया। उन्होंने आगे एस.डी.एच. भवन के शीघ्र निर्माण को सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को मौके पर निर्देश दिए और प्रतिनिधिमंडल द्वारा मांग के अनुसार पशु अस्पताल के स्थानांतरण के लिए विकल्पों के निर्धारण का निर्देश दिया। उपराज्यपाल ने अधिकारियों को ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की मांगों के प्रति संवेदनशील रहने का आह्वान करते हुए प्रशासन में जमीनी स्तर पर भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए पी.आर.आई., बी.डी.सी. एवं यू.एल.बी. सदस्यों के साथ नियमित बैठक करनेके भी निर्देश जारी किए। दौरे के दौरान उपराज्यपाल के साथ लोक निर्माण सचिव खुर्शीद अहमद शाह, जम्मू के मंडलायुक्त संजीव वर्मा, निदेशक ग्रामीण विकास जम्मू सुदर्शन कुमार, लोक निर्माण अभियंता देस राज भगत के अलावा अन्य कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Author

rajesh kumar

Related News